States

झारखंड की टीम को संतोष ट्रॉफी और महिला चैंपियनशिप में खेलने की मिल सकती है अनुमति, लगी थी रोक

Jharkhand Football Players: झारखंड फुटबॉल संघ (Jharkhand Football Association) को राज्य सरकार के हस्तक्षेप के बाद आगामी संतोष ट्रॉफी (Santosh Trophy) और राष्ट्रीय महिला चैंपियनशिप (Womens Championship) के लिए फुटबॉल टीम (Football Team) भेजने की स्वीकृति मिल सकती है. अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (All India Football Federation) ने सोमवार को फैसला किया था कि गुटों में बंटे जेएफए की किसी टीम को टूर्नामेंट में हिस्सा लेने की स्वीकृति नहीं दी जाएगी क्योंकि 2 गुटों ने 2 टूर्नामेंटों के लिए चार टीम भेजी थी. 

विधायक ने कही ये बात 
अंदरूनी लड़ाई की बात सामने आने के बाद हस्तक्षेप करने वाले खिजरी के विधायक राजेश कच्छप ने बताया कि, ”एफआईएफएफ चार टीम के बीच ट्रायल कराके संतोष ट्रॉफी और राष्ट्रीय महिला चैंपियनशिप के लिए टीम के चयन पर सहमत हो गया है.” उन्होंने कहा, ”अब खेल एवं युवा मामलों का मंत्रालय एआईएफएफ के साथ सीधे इस मामले को देख रहा है. हम नहीं चाहते कि राज्य के प्रतिभावान फुटबॉल खिलाड़ी टूर्नामेंट में खेलने से महरूम रहें.”

समाधान निकलने की उम्मीद 
जेएफए अध्यक्ष नजम अंसारी ने बताया कि महिला ट्रायल बुधवार को होंगे जबकि इसके बाद संतोष ट्रॉफी के लिए पुरुष ट्रायल कराए जाएंगे. उन्होंने कहा कि, ”टीम के चयन के लिए हमने तीन चरण की प्रक्रिया अपनाई थी लेकिन विरोधी गुट (सचिव गुलाम रब्बानी की अगुआई वाले) के पास राज्य के कुछ ही खिलाड़ी हैं जबकि बाकी खिलाड़ी पूर्वोत्तर के हैं.” अंसारी ने कहा कि, ”सरकार को हस्तक्षेप करना पड़ा और नोटिस जारी किया. हमें समाधान निकलने की उम्मीद है. हम चाहते हैं कि राज्य के खिलाड़ियों को वो मिले जिसके वह हकदार हैं क्योंकि हमारे राज्य में पर्याप्त प्रतिभा उपलब्ध है.” इस समस्या के लिए एआईएफएफ को जिम्मेदार ठहराते हुए उन्होंने कहा, ”उन्होंने दो ईमेल आईडी बना दी- सामान्य आईडी जेएफए के नाम और दूसरी रब्बानी के नाम से जिससे भ्रम की स्थिति पैदा हुई.” अंसारी ने कहा कि, ”इससे पहले सारी जानकारी जेएफए की आईडी से भेजी जाती थी लेकिन 14 नवंबर की शाम को अचानक रब्बानी की आईडी इस्तेमाल होने लगी और टीम भी बदल दी गई.”

खिलाड़ियों को भुगतना पड़ रहा है खामियाजा 
गौरतलब है कि, झारखंड फुटबॉल एसोसिएशन ( Jharkhand Football Association) के आपसी विवाद का खमियाजा खिलाड़ियों को भुगतना पड़ रहा है. विवाद को देखते हुए ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (All India Football Federation) ने संतोष ट्रॉफी (Santosh Trophy) और महिला चैंपियनशिप (Womens Championship) में झारखंड टीम की भागीदारी पर रोक लगा दी थी. संतोष ट्रॉफी का आयोजन एक दिसंबर से ओडिशा में होना है, जिसके लिए 30 नवंबर को टीम को रिपोर्ट करनी है. वहीं, महिला चैंपियनशिप 29 नवंबर से केरल में होगी, जिसके लिए टीमों को 26 नवंबर को रिपोर्ट करने को कहा गया है.

ये भी पढ़ें:

Jharkhand के इन शहरों में लगाए जाएंगे बिजली के प्रीपेड स्मार्ट मीटर, उपभोक्ताओं को होगा लाभ 

Jharkhand Weather: झारखंड में इस बार मुसीबत का सबब बन सकती है सर्दी, जल्द ही दिखेगा कोहरे का प्रभाव 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button