States

Gurugram News: गुरुग्राम में हाई प्रोफाइल चोरी का मामला, डॉक्टर निकले वारदात के मास्टरमाइंड

Gurugram News: गुरूग्राम के खेड़की दौला इलाके से 4 करोड़ रुपए की हाई प्रोफाइल चोरी मामले में एसटीएफ (STF) के सामने डॉक्टर ने कई बड़े खुलासे किए हैं. फिलहाल मुख्य आरोपी डॉक्टर सचिंदर जैन नवल को पूछताछ के बाद कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया है. अब डॉक्टर से खुलासे के आधार पर एसटीएफ मामले की जांच को आगे बढ़ा रही है. पूरे मामले में कुल 6 लोगों को एसटीएफ गिरफ्तार कर चुकी है जिसमें दो डॉक्टर भी शामिल हैं. एसटीएफ के मुताबिक दोनों डॉक्टर ही चोरी के मास्टमाइंड हैं. आरोपियों के पास से 1.90 करोड़ रुपए कैश, सवा करोड़ का 3 किलो सोना (GOLD) और 45 लाख कीमत के यूएस डॉलर्स (US Dollar) बरामद किए गए हैं.

हाई प्रोफाइल चोरी के मास्टरमाइंड निकले डॉक्टर

फिलहाल एसटीएफ की गिरफ्त में आए डॉक्टर सचिंदर जैन नवल के खुलासे से कई नेता और अधिकारियों के गले पर तलवार लटक सकती है. हाई प्रोफाइल चोरी मामले में गिरफ्तार डॉक्टर सचिंदर जैन नवल और डॉक्टर जे पी सिंह शहर के नामी डॉक्टर हैं. दोनों ने दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल में तैनात विकास गुलिया और गैंगस्टर विकास लगरपुरिया के साथ चोरी की साजिश रची थी. दरअसल गुरूग्राम में 20 अगस्त को अल्फा जी कॉर्प मैनेजमेंट सर्विस कंपनी ने खेड़की दौला थाने में चोरी की एफआईआर (FIR) दर्ज करवाई थी.

Gurugram News: गुरुग्राम में हाई प्रोफाइल चोरी का मामला, डॉक्टर निकले वारदात के मास्टरमाइंड

खुलासे से बढ़ सकती है रसूखदारों की मुश्किलें

गुरुग्राम पुलिस ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल में तैनात विकास गुलिया और एक अन्य को गिरफ्तार कर कब्जे से नाम मात्र की रिकवरी दिखा मामले को रफा-दफा कर दिया. लेकिन जांच में संतुष्ट न होने पर बिल्डर की तरफ से एक बार फिर डीजीपी हरियाणा को शिकायत दी गई. डीजीपी ने इस मामले की जांच 1 नंवबर को एसटीएफ को सौंप दी. एसटीएफ ने आरोपियों से पूछताछ के बाद गुरूग्राम से डॉक्टर सचिंदर जैन नवल और जेपी सिंह को गिरफ्तार किया और दोनों ने चौंकानेवाले खुलासे किए. खुलासे से एसटीएफ के अधिकारी भी हैरान रह गए. फिलहाल डॉक्टर नवल के कुछ बड़े अधिकारी और कुछ राजनेताओं से भी अच्छे संबंध बताए जा रहे है जिससे आने वाले दिनों में रसूखदारों की भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

करोड़ों की चोरी का माल हो सकता है काला धन

एसटीएफ को तफ्तीश के दौरान आरोपी संदीप और नीटू के बयान से पता चला कि डॉक्टर जे पी सिंह ने डॉक्टर सचिंदर नवल को इस बड़ी रकम की जानकारी दी. इसके बाद सचिंदर जैन ने इसकी जानकारी गैंगस्टर विकास लगरपुरिया को दी और करोड़ों रुपए की चोरी की घटना में अहम भूमिका निभाई. एसटीएफ प्रमुख सतीश बालान ने बताया कि खेड़कीदौला की सोसाइटी में दो कमरे किराए पर लिए गए और फिर मौका मिलते ही 2-3 अगस्त 2021 की रात करोड़ों की चोरी को अंजाम दे डाला. एसटीएफ को आशंका है कि चोरी का पैसा काला धन हो सकता है. दरअसल, कंपनी की तरफ से दर्ज कराई गई रिपोर्ट में राशि का जिक्र नहीं किया गया था.

Delhi Dengue Update: सावधान! दिल्ली में डेंगू का चिंता पैदा करने वाला आंकड़ा, जानें अब तक कितने केस?

Delhi Pollution News: एयर क्वालिटी में सुधार के साथ दिल्ली में कंस्ट्रक्शन के काम पर से रोक हटी लेकिन…

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button