States

अवैध खनन पर मुख्य सचिव सख्त, लापरवाही करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई

Dehradun News: उत्तराखंड में अवैध खनन पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए उत्तराखंड के मुख्य सचिव सुखबीर सिंह संधू ने सख्त निर्देश दिए हैं. इतना ही नहीं मुख्य सचिव ने अवैध खनन के खिलाफ सख्त आदेश देते हुए प्रभावी अंकुश लगाने जाने के भी आदेश दिए हैं.

मुख्य सचिव ने दिए अधिकारियों को निर्देश

इसके साथ-साथ अवैध खनन परिवहन एवं भंडारण पर प्रभावी रोक लगाई जाने के लिए भी मुख्य सचिव ने सख्ती बरतते हुए तमाम जिलाधिकारियों, पुलिस महानिदेशक और प्रमुख वन संरक्षक को सख्ती से आदेश का पालन कराने के लिए निर्देश दिए हैं. इसके अलावा प्रदेश में अवैध खनन को लेकर लापरवाही बरतने वाले अधिकारी-कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई करने के भी सख्त निर्देश मुख्य सचिव सुखबीर सिंह संधू ने दिए हैं .

राज्य में धड़ल्ले से चल रहा है अवैध खनन

आपको बता दें कि प्रदेश भर के कई जनपदों के क्षेत्रों में अवैध खनन का कारोबार धड़ल्ले से जारी है. जिसका संज्ञान लेते हुए मुख्य सचिव ने सभी जनपद के जिलाधिकारी और पुलिस विभाग के अफसरों को अवैध खनन रोकने के लिए आदेश दिए हैं. इसके साथ-साथ अगर किसी भी अधिकारी कर्मचारी की संलिप्तता अवैध खनन के काले कारोबार में पाई गई तो उसके लिए भी कार्रवाई करने के लिए डीजीपी उत्तराखंड और प्रमुख वन संरक्षक उत्तराखंड को निर्देश दिए हैं.

कई बार अधिकारियों को दी है चेतावनी

ऐसा पहली बार नहीं है कि जब मुख्य सचिव सुखबीर सिंह संधू की नाराजगी और सख्त मिजाज देखा गया हो. इससे पहले भी अधिकारी-कर्मचारियों की कार्यशैली को लेकर भी एसएस संधू ने सवाल उठाए थे और जनता के हित में होने वाले काम को जल्द से जल्द करने की नसीहत भी दी थी. अब इस बार मुख्य सचिव सुखबीर सिंह संधू ने प्रदेश के तमाम क्षेत्रों से मिल रही अवैध खनन की शिकायतों को संज्ञान में लेकर सख्ती बरतते हुए डीजीपी उत्तराखंड और प्रमुख वन संरक्षक उत्तराखंड को अवैध खनन में प्रभावी अंकुश लगाने के लिए दिशा निर्देश देते हुए कार्रवाई करने के भी आदेश दिए हैं.

ये भी पढ़ें-

Farm Laws Repeal: कृषि कानूनों की वापसी के बाद क्या बीजेपी-अकाली फिर साथ आएंगे या कैप्टन को सहारा देगी बीजेपी

Farm Laws Repeal: CM नीतीश के मंत्री का दावा- कृषि कानून का होगा ‘पुनर्जन्म’, किसानों को समझाने में सफल होंगे PM मोदी

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button