States

बक्सर में मोतियाबिंद से पीड़ित 500 लोगों का मुफ्त में होगा ऑपरेशन, लगाया गया नेत्र जांच शिविर


<div id=":et" class="Ar Au Ao">
<div id=":gf" class="Am Al editable LW-avf tS-tW tS-tY" tabindex="1" role="textbox" contenteditable="true" spellcheck="false" aria-label="Message Body" aria-multiline="true">
<p style="text-align: justify;"><strong>बक्सर:</strong> बिहार के बक्सर जिले के डुमरांव में गुरुवार को मोतियाबिंद नेत्र जांच शिविर लगाया गया. रोटरी जगदीश आई हॉस्पिटल के नेत्र रोग विभाग के डॉक्टरों की टीम ने शिविर में आए लोगों की जांच की. शिविर में 500 मरीजों की जांच की गई. अस्पताल के चेयरमैन प्रदीप जायसवाल ने बताया कि जांच के दौरान 150 लोगों को सफेद मोतियाबिंद पाई गई. 25 नवंबर तक मुफ्त जांच चलता रहेगा. वहीं, 28 नवंबर को अस्पताल में सभी का मुफ्त में ऑपरेशन किया जाएगा. अस्पताल द्वारा 500 मोतिबिंद के पीड़ित मरीजों का 28 नवंबर को ऑपरेशन करने का लक्ष्य रखा गया है.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>जेडीयू नेता ने किया उद्घायन</strong></p>
<p style="text-align: justify;">बता दें कि जांच शिविर का उद्घाटन जेडीयू पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह, पूर्व विधायक प्रभुनाथ राम, मोहन गुप्ता, पूर्व पत्रकार राजकुमार ने किया. वहीं, कार्यक्रम की अध्यक्षता अध्यक्ष सौरभ तिवारी व संचालन रोटरी क्लब बक्सर के पूर्व अध्यक्ष विनय कुमार ने की. जगदीश आई हॉस्पिटल&nbsp;में सुबह 9 से लेकर दोपहर 5 बजे तक यह शिविर लगाया गया. इस दौरान सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा नेत्रहीनों को रोशनी देना नई जिंदगी देने के समान है. इस कार्य से बड़ा कोई पुण्य का काम नहीं हो सकता है.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong><a href="https://www.abplive.com/states/bihar/shahabuddin-and-hena-shahab-had-done-love-marriage-in-1991-in-pratappur-both-studying-in-the-same-college-of-siwan-2000320">हेरा शहाब से ज्यादा चर्चा थी उनके पिता की शादी, शहाबुद्दीन ने हिना से किया था प्रेम विवाह, एक ही कॉलेज में पढ़ते थे दोनों</a></strong></p>
<p style="text-align: justify;">वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि नेत्रहीनों को नेत्र की ज्योति प्रदान कर प्रदीप ने अपने पिता को जैसे श्रद्धांजलि दी है. ऐसा दुनिया में बहुत कम पुत्र करते हैं, जो पिता के अधूरे सपने को अपना दायित्व समझकर पूरा करते हैं. आंखों की रोशनी शरीर के लिए ऐसी है कि अगर थोड़ी सी दिक्कत आ जाए तो पूरा काम ठप होता जाता है.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">पूर्व सांसद ने कहा कि जो अपने लिए जियेगा उसे समाज कभी याद नहीं रखेगा. दूसरे के लिए जीने वालों को दुनिया याद रखती है. महिलाएं हमारे समाज की अहम कड़ी होती हैं. यहां मैं 10-15 वर्षों से आ रहा हूं और ये देखता हूं कि यहां सबसे ज्यादा महिलाएं ही उपस्थित होती हैं. अगर घर की महिलाएं स्वस्थ रहेंगी तो पूरा परिवार सुखी रहेगा.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><iframe title="YouTube video player" src="https://www.youtube.com/embed/odmHZVWb7ws" width="560" height="315" frameborder="0" allowfullscreen="allowfullscreen"></iframe></p>
</div>
</div>
<p style="text-align: justify;"><strong>यह भी पढ़ें -</strong></p>
<p><a href="https://www.abplive.com/states/bihar/after-rohini-acharya-jitan-ram-manjhi-daughter-in-law-deepa-manjhi-gave-statement-on-tejashwi-yadav-ann-2000445"><strong>पूर्व CM के परिवारों में जुबानी जंग: रोहिणी के बाद तेजस्वी पर भड़कीं जीतन राम मांझी की बहू दीपा मांझी, चलाए शब्दों के बाण</strong></a></p>
<p><a href="https://www.abplive.com/states/bihar/bihar-news-bjp-minister-ashwini-choubey-reaction-on-kangana-ranaut-statement-about-mahatma-gandhi-in-sonepur-ann-2000202"><strong>Bihar News: महात्मा गांधी को लेकर कंगना रनौत के बयान पर क्या बोले अश्विनी चौबे? एक-एक कर बताए वीरों के नाम</strong></a></p>

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button