States

IND Vs NZ T20: भारतीय टीम में चयन होने पर क्या बोले वेंकटेश अय्यर के पिता

IND Vs NZ T20: मध्यप्रदेश से ताल्लुक रखने वाले पूर्व क्रिकेटर अमय खुरासिया ने भारतीय T20 टीम में शामिल किए जाने पर वेंकटेश अय्यर और आवेश खान को बधाई दी है. आईपीएल में जलवा दिखा चुके 26 वर्षीय हरफनमौला खिलाड़ी वेंकटेश अय्यर बचपन से पूर्व क्रिकेटर सौरव गांगुली की बल्लेबाजी के मुरीद रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक मैच में गांगुली के ज्यादा रन नहीं बना पाने से भारत को हार का मुंह देखना पड़ा था, तो गहरी मायूसी के बाद नन्हें वेंकटेश को बुखार आ गया था. भारतीय क्रिकेट के प्रति अपने बेटे के जुनून को याद करते हुए पिता राजशेखरन अय्यर ने आज ‘पीटीआई-भाषा’ से साझा किया.

वेंकटेश बचपन से सौरव गांगुली का मुरीद- पिता

वेंकटेश को न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाली तीन मैचों की श्रृंखला के लिए टीम में शामिल किया गया है. राजशेखरन ने बताया, “मेरे बेटे को छह-सात साल की उम्र से ही क्रिकेट से गहरा लगाव हो गया था. बेटा बचपन से गांगुली का बड़ा प्रशंसक रहा है. गांगुली से प्रेरित होकर उसने बाएं हाथ से बल्लेबाजी शुरू की.” पिता याद करते हैं,”वेंकटेश बचपन में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैच देख रहा था जिसमें भारत की हार हुई थी और उसके पसंदीदा बल्लेबाज गांगुली भी ज्यादा रन नहीं बना सके थे. इससे वेंकटेश बहुत दुखी हुआ और उसे बुखार भी आ गया. तब मुझे महसूस हुआ कि मेरा बेटा भारतीय क्रिकेट को लेकर बहुत गंभीर है.”

भारतीय T20 टीम में आवेश और वेंकटेश का चयन 

राजशेखरन ने बताया कि क्रिकेट के प्रति इस दीवानगी को देखने के बाद उन्होंने अपने बेटे को प्रशिक्षण के लिए अच्छे क्लबों में भेजा और बेहतर प्रदर्शन के लिए प्रोत्साहित किया. उन्होंने कहा, ‘‘सौभाग्य से वेंकटेश को अच्छे प्रशिक्षक मिले. पहले इंदौर के महाराजा यशवंतराव क्रिकेट क्लब (एमवायसीसी) के कोच दिनेश शर्मा और बाद में मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ के मुख्य कोच चंद्रकांत पंडित ने मेरे बेटे के कौशल को उभारा.” क्रिकेट के जुनून के बावजूद वेंकटेश ने पढ़ाई से कभी समझौता नहीं किया. पिता ने बताया, ‘‘मेरे बेटे ने वाणिज्य विषय से स्नातक की उपाधि हासिल की है.

भारत समेत 8 देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की Afghanistan पर हुई अहम बैठक के बाद जारी हुआ Delhi Declaration Document

Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के मंसूबे होंगे नेस्तनाबूद, घाटी में और भेजे जाएंगे जवान

आगे उसका इरादा चार्टर्ड अकाउंटेंट की पढ़ाई करना था. लेकिन क्रिकेट की व्यस्तताओं के चलते ऐसा नहीं कर सका. हालांकि, अपनी मां के मार्गदर्शन के मुताबिक उसने वित्त विषय में एमबीए की उपाधि हासिल की.’’ गौरतलब है कि वेंकटेश अय्यर के साथ ही इंदौर के तेज गेंदबाज 24 वर्षीय आवेश खान ने भी न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाली तीन मैचों की श्रृंखला के लिए भारतीय T20 टीम में जगह बनाई है. दोनों युवा खिलाड़ियों के चयन से स्थानीय क्रिकेट जगत में जश्न का माहौल है.

बीसीसीआई के पूर्व सचिव संजय जगदाले ने अय्यर और खान को भारतीय टीम में चुने जाने पर बधाई दी है. उन्होंने कहा कि दोनों उभरते सितारों को क्रिकेट के आकाश में चमकने का सुनहरा मौका मिला है. उन्होंने कहा, ‘‘टी20 विश्व कप में भारत का सफर समाप्त होने के बाद देश की टीम में स्वाभाविक प्रक्रिया के तहत नये चेहरों को मौका दिया गया है. ऐसे में अय्यर और खान को इस मौके को अच्छी तरह भुनाने की कोशिश करनी चाहिए.’’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button