States

कानपुर में आज नहीं मिला जीका वायरस का एक भी केस, अब तक कुल 66 मामले आ चुके हैं सामने 

Kanpur Zika Virus: जीका वायरस (Zika Virus) का खतरा कानपुर में बढ़ता जा रहा, इस बीच राहत की बात ये है कि आज संक्रमण का एक भी मामला सामने नहीं आया है. बृहस्पतिवार को कानपुर (Kanpur) में जीका वायरस के 30 नए केस सामने आए थे. नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 66 तक पहुंच गई है. पोखरपुर में स्वास्थ्य विभाग (Health Department) की अपनी एक्टिव मोड में है और अधिकारी भी दौरा कर रहे हैं.  कांटेक्ट ट्रेसिंग के साथ-साथ सर्विलांस टीम सैंपलिंग कर चुकी है, सोर्स रिडक्शन की कार्रवाई भी पूरी की जा चुकी है.

आज एक भी मामला सामने नहीं आया 
सीएमओ नेपाल सिंह ने बताया कि ‘कानपुर में आज जीका वायरस का एक भी मामला सामने नहीं आया है. अब तक कुल 66 मामले सामने आए हैं. प्रभावित सभी 12 मोहल्लों में निरोधात्मक कार्रवाई की जा रही है. आज 70 टीमों ने 3,311 घरों का सर्विलांस किया. 71 टीमों ने 3,513 घरों में स्प्रे का कार्य किया.’ उन्होंने बताया कि सैंपल की टीमों ने आज 102 सैंपल भेजे और अब तक कुल 2,888 सैंपल जांच के लिए लखनऊ भेजा गया है. 

400 मीटर तक होती है मच्छर की रेंज 
इस बीच एसीएमओ डॉक्टर आरएन सिंह ने बताया कि, पहला केस पोखरपुर के रहने वाले और एयरफोर्स में काम करने वाले एमएम अली का निकला था. घर के पीछे ब्रीडिंग प्लेस देखे थे जो बहुत ज्यादा तादाद में मिले थे. उन्होंने बताया कि इसके मच्छर की रेंज 400 मीटर तक होती है और जिसको काटेगा वो जीका वायरस से संक्रमित हो जाएगा. इसके लिए सोर्स रिडक्शन की करीब 100 टीमें लगी हुई हैं. फोकल स्प्रे की 100 टीमें लगी हैं और सर्विलांस की भी 100 टीमें लगी हुई हैं.

कराई जा रही है सघन फॉगिंग 
डॉक्टर आरएन सिंह ने बताया कि, पोखरपुर इलाके में ही 17 नए संक्रमित सामने आए हैं. 3 किलोमीटर की रेडियस में काम कर रहे हैं. पोखरपुर, हरजिंदर नगर, श्याम नगर, ओम पुरवा, न्यू आजाद नगर, शिव कटरा, लाल कुर्ती, तिवारीपुर, बगिया इलाकों में 100 टीमें लगी हुई हैं, जो रोकथाम का काम कर रही हैं. घर-घर जाकर समझाया जा रहा है मच्छर दिन के टाइम और साफ पानी में काटता है. डरने की जरूरत नहीं है, लोगों को पैनिक होने की जरूरत नहीं है अपने आप को सुरक्षित रखने की जरूरत है. उन्होंने बताया कि नगर निगम की तरफ से सघन फॉगिंग कराई जा रही है. दिन में 2 बार फॉगिंग हो रही है. फॉगिंग से एडल्ट मॉस्किटो मर जाते हैं, सोर्स रिडक्शन का जो काम किया जा रहा है वो सफल होगा. 

ये भी पढ़ें: 

Coronavirus in UP: 24 घंटे में सामने आए कोरोना के 5 नए केस, एक मरीज की हुई मौत 

Chardham Yatra 2021: शीतकाल के लिए बंद हुए गंगोत्री धाम के कपाट, मुखबा गांव के लिए रवाना हुई उत्सव डोली



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button