States

प्रियंका गांधी ने BJP को घेरा, कहा कोरोना काल में सबसे ज्यादा काम कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया

Priyanka Gandhi Lucknow Visit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र में भव्य रैली के बाद अब कांग्रेस (Congress) सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के गढ़ गोरखपुर (Gorakhpur) में 31 अक्टूबर को रैली करने जा रही है. गुरुवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) लखनऊ (Lucknow) पहुंची और पार्टी कार्यालय पर कुछ संगठन के लोगों से मुलाकात भी की. एबीपी गंगा से खास बातचीत में प्रियंका गांधी ने कहा कि आशा है गोरखपुर की रैली भी अच्छी रहेगी. उन्होंने कहा कि पूरे उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में रैली करनी है, इस दौरान प्रियंका भाजपा (BJP) पर हमलावर नजर आईं. 

सबसे ज्यादा काम कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया
भाजपा लगातार कांग्रेस (Congress) पर आरोप लगाती है कि कोरोन काल में ये लोग आइसोलेट थे. चुनाव के समय सुर बदले और अब रैली निकाल रहे, घोषणाएं कर रहे हैं. इन आरोपों पर प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा कि 2 साल से मुझे देख रहे हैं आप सब. कोरोना के समय सबसे ज्यादा काम, सबसे ज्यादा राहत कार्य कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया. आइसोलेट तो वो रहे जो जनता की समस्या सुनेगा नहीं, जनता के पास जाएगा नहीं. किसानों को कैसे कुचला गया ये सबने देखा. किसान आंदोलन कर रहे हैं इतने महीने से, सुनवाई नहीं हो रही है.

BJP Samajik Sammelan: सीएम योगी ने विरोधियों पर किया वार, बोले-  चुनाव की आहट में बदल रहे हैं इनके सुर 

दलित, गरीब, महिला, किसान की नहीं हो रही है सुनवाई
प्रियंका ने कहा वो आगरा गई थीं, सबने देखा क्या हुआ वहां. ये सिर्फ अपने बड़े-बड़े उद्योगपतियों के मित्रों की बात सुनते हैं. दलित, गरीब, महिला, किसान की कोई सुनवाई नहीं है देश में. प्रियंका ने कहा कि आइसोलेट वो हो रहे हैं, आइसोलेट वो होता जो जनता के पास नहीं जाता है, जनता की नहीं सुनता है, जनता की समस्याएं सुलझाने की कोशिश नहीं करता है. भाजपा के सामाजिक सम्मेलनों पर प्रियंका ने कहा वो जो चाहे करें, लेकिन उनको जनता पास जाना चाहिए, लोगों की समस्याओं को सुनना चाहिए. 

शिक्षक महासंघ के पदाधिकारियों से की मुलाकात 
लखनऊ आने के बाद प्रियंका गांधी कुछ देर के लिए पार्टी कार्यालय भी पहुंचीं. यहां प्रियंका गांधी ने शिक्षक महासंघ के पदाधिकारियों से मुलाकात की. शिक्षक महासंघ के प्रतिनिधिमंडल ने प्रियंका गांधी को शिक्षकों और कर्मचारियों की मांगें बताईं. शिक्षकों ने पुरानी पेंशन बहाली के मुद्दे को प्रमुखता से उठाया. प्रियंका ने पार्टी के घोषणा पत्र में उनके मुद्दों को शामिल करने का आश्वासन दिया. 

ये भी पढ़ें:

UP Election 2022: किसानों को साधने लिए BJP शुरू कर सकती है कवायद, जानें- क्या है रणनीति

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button