States

उत्तराखंड में आई आपदा को लेकर बीजेपी सांसद अनिल बलूनी ने कही ये बात

Uttarakhand News: प्रदेश में आई आपदा से जहां प्रदेश में जनहानि का नुकसान हुआ है, वहीं सरकार की ओर से लगातार हर क्षेत्र में कार्य किए जा रहे हैं. वहीं हल्द्वानी दौरे पर पहुंचे राज्यसभा सांसद एवं बीजेपी नेता अनिल बलूनी ने कहा कि, केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों मिलकर आपदा ग्रस्त क्षेत्र के बारे में जानकारी ले रहे हैं. साथ ही लगातार प्रदेश सरकार केंद्र सरकार के संपर्क में है. वहीं, अनिल बलूनी ने कहा कि, दो दिनों से कुमाऊं कमिश्नर, जिलाधिकारी नैनीताल एवं अन्य अधिकारियों के साथ मिलकर फीडबैक लेकर कार्य किया जा रहा है. अनिल बलूनी ने कहा कि, प्रदेश में आपदा एक बड़ी समस्या है और लगातार अक्सर देखने को मिलता है कि, आपदाओं में बच्चे अनाथ हो जाते हैं. उन्होंने कहा कि मेरे मन में काफी समय से विचार चल रहा था कि क्यों ना आपदा में अनाथ हुए बच्चों के लिए एक योजनाएं बनाई जाए, जिस पर अनाथ बच्चों के लिए फंड इकट्ठा कर उनके पढ़ाई और भरण पोषण हो सके. इसको लेकर केंद्रीय बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी से बात हुई है और जल्द ही शाम को मुख्यमंत्री से इस विषय पर बात कर अनाथ बच्चों के लिए एक योजनाएं बनाएंगे.

राज्य में दोबारा बीजेपी की सरकार बनेगी

वहीं, प्रदेश में होने वाली 2022 विधानसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी सह प्रभारी लॉकेट चटर्जी से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि उनको भी है लगता है कि उत्तराखंड की जनता राज्य में दोबारा बीजेपी सरकार को देखना चाहती है.

हरीश रावत पर अनिल बलूनी का हमला

वहीं, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के बयान पर अनिल बलूनी ने निशाना साधा. हरीश रावत ने कहा कि अगर बीजेपी ने उनकी पार्टी को तोड़ने की कोशिश की तो उनको भी खामियाजा उठाना पड़ेगा. हरीश रावत के इस बयान पर अनिल बलूनी ने कहा कि, हरीश रावत इन चीजों के मास्टर हैं, कभी भी हरीश रावत ने विकास की राजनीति नहीं की, बल्कि बयानबाजी पर ही समय निकालते रहे. हरीश रावत ने प्रदेश के लिए कुछ कार्य किया है तो उसके बारे में वह बात क्यों नहीं करते और जो उन्होंने उत्तराखंड में जुम्मे की छुट्टी करी थी जो उन्होंने प्रदेश में भ्रष्टाचार फैलाया था, पहले उन सबके लिए माफी मांगे फिर प्रदेश में राजनीति करें.

ये भी पढ़ें.

बिना नाम लिए स्मृति ईरानी ने सोनिया गांधी पर कसा तंज, बोलीं- हर विकास कार्य का दे सकती हूं हिसाब

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button