States

तारापुर सीट पर डैमेज कंट्रोल में सफल रहा JDU, नीतीश कुमार के साथ आएंगे सम्राट चौधरी के भाई

मुंगेर: बिहार के मुंगेर जिले के तारापुर विधानसभा सीट पर आगामी 30 अक्टूबर को चुनाव होना है. जेडीयू, आरजेडी, कांग्रेस, एलजेपी ने इस सीट पर अपने-अपने प्रत्याशी को मैदान में उतारा है. सीट को कब्जा करने के लिए तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) तीन दिनों के दौरे पर मुंगेर पंहुचे हुए हैं. इधर, उनके पंहुचते ही नीतीश कुमार (Nitish Kumar) डैमेज कंट्रोल में लग गए थे और वे इस काम में सफल रहे. उन्होंने क्षेत्र के दिग्गज नेता शकुनी चौधरी (Shakuni Chaudhary) के बेटे रोहित चौधरी (Rohit Chaudhary) जो बीजेपी (BJP) नेता सम्राट चौधरी (Samrat Chaudhary) के भाई हैं, को अपने साथ मिला लिया. उनके जेडीयू (JDU) में शामिल होने से पार्टी की दावेदारी इस सीट पर और मजबूत हो जाएगी. 

शकुनी चौधरी राजनीति से ले चुके हैं सन्यास

बता दें कि तारापुर के दिग्गज नेता शकुनी चौधरी के बड़े पुत्र रोहित चौधरी कल यानी मंगलवार को पटना में जेडीयू की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं. मालूम हो कि शकुनी चौधरी बड़े नेता हैं. उन्होंने साल 1980 से 2005 तक लगातार तारापुर विधानसभा का प्रतिनिधित्व किया है. उनके तीन बेटे हैं- बड़े बेटे रोहित चौधरी, दूसरे सम्राट चौधरी, तीसरे धर्मेन्द्र चौधरी. रोहित चौधरी शुरू से समाजिक कार्य में संलिप्त रहे हैं. 

सैकड़ों समर्थकों के साथ पहुंचेंगे पटना

रोहित ने एक बार खगड़िया जिला से जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) की पार्टी हम (HAM) की टिकट पर चुनाव लड़ा था, लेकिन उनको हार का सामना करना पड़ा था. उसके बाद से वे सामाजिक कार्य में लगे हुए हैं. वर्तमान में रोहित चौधरी के छोटे भाई सम्राट चौधरी बीजेपी कोटे से बिहार सरकार में मंत्री हैं. खबर है कि रोहित चौधरी अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ सोमवार की रात पटना रवाना हो रहे हैं. 

आरजेडी ने नजर गड़ा रखी थी

वे मंगलवार को जेडीयू कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समक्ष जेडीयू की सदस्यता ग्रहण करेंगे. रोहित चौधरी ने तारापुर उपचुनाव में जेडीयू से टिकट लेने का भरपूर प्रयास किया था. माना जा रहा था कि टिकट नहीं मिलने से चौधरी परिवार नाराज है, लेकिन उनके द्वारा जेडीयू में शामिल होने का फैसला लेने से यह भ्रम छंट गया. उनके शामिल होने से पार्टी को एक नई ऊर्जा मिलेगी. खबर ये भी थी कि रोहित पर आरजेडी ने नजर गड़ा रखी थी. 

यह भी पढ़ें –

In Pic: आईजीआईएमएस में तड़पने के बाद मोना राय की हुई थी मौत, जांच के लिए CCTV और कॉल डिटेल सहारा

आतंकी घटना में बिहारियों की हत्या से गुस्से में जीतन राम मांझी, कहा- बिहार को दें जिम्मेदारी, 15 दिन में सुधार देंगे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button