States

रामसूरत राय का बड़ा बयान- सीमांचल के इलाकों में घुसपैठिये डाल रहे डेरा, इस ओर ध्यान की जरूरत

पटना: बीते दिनों बिहार के सीमांचल के इलाकों में घुसपैठ की बात कह कर सूबे का सियासी पारा बढ़ाने वाले सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के मंत्री रामसूरत राय (Ramsurat Rai) ने फिर एक इस मुद्दे को उठाया है. घुसपैठ के संबंध में दावा करते हुए मंगलवार को उन्होंने कहा कि बिहार के सीमांचल इलाकों में बाहरी घुसपैठ बना रहे हैं. स्थानीय लोगों की मदद से ऐसे लोग गलत जानकारी पर आईडी बनाना सहित जमीन खरीद रहे हैं.

तथ्यों के आधार पर लगाया आरोप 

देश की राजधानी दिल्ली में गिरफ्तार आतंकवादी पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा, ” तीन-चार महीने पहले ही मैंने खुलासा किया था कि बिहार के किशनगंज जिला सहित सीमांचल जिलों में विदेशी अवैध तरीके से फेक आईडी बनाकर जमीन खरीदने के अलावा गलत काम करने में लगे हैं. यह मैंने तथ्यों के आधार पर आरोप लगाया था. चूंकि मैंने सूबे का राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री होने के नाते किशनगंज जिला में विभागीय समीक्षा बैठक में जानकारी के बाद रैकेट पकड़ा था. तब मेरी काफी आलोचना सहयोगी दलों के नेताओं द्वारा की गई थी.”

उन्होंने कहा कि घुसपैठिये स्थानीय लोगों की मदद से जमीन खरीद कर क्षेत्र में व्यापार स्थापित कर रहे हैं. बीते कई दिनों से ये सिलसिला जारी है. ऐसे में इस मुद्दे पर सभी पार्टियों को मिलकर बात करने की जरूरत है क्योंकि ये राष्ट्र की सुरक्षा से संबंधित मुद्दा है. बता दें कि बीते दिनों राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय ( Minister Ramsurat Rai) ने इस संबंध में कहा था कि सीमांचल के इलाके में बड़ी संख्या में घुसपैठियों बसते जा रहे हैं. दलालों के जरिए बाहरी लोगों को लाकर वहां की जमीन बेची जा रही हैं. उनकी मानें तो सीमांचल में समीक्षा बैठक के दौरान उन्हें ये जानकारी मिली है.

सीमांचल में रैकेट चला रहे हैं दलाल

एक कार्यक्रम के दौरान मंत्री रामसूरत राय ने कहा था, ” विदेशी पैसों (Foreign Currency) का इस्तेमाल जमीन खरीदने में किया जा रहा है. इस सहारे लोग घुसपैठ कर रहे हैं. वहीं, खास लोगों के जरिए घुसपैठियों को अपने समाज का लोग बताया जा रहा है. दलाल मंदिर, मठों, भूदान और लाल पर्चे की जमीनों को घुसपैठियों को बेच रहे हैं. वहीं, उस पर बाजार, मॉल और संस्था बनाने के सीमांचल में रैकेट चल रहे हैं.”

यह भी पढ़ें –

Exclusive: इस्पात मंत्रालय की हिंदी सलाहकार समिति में कैसे आया चिराग पासवान का नाम? RCP सिंह ने खुद बताया

Bihar By-Election: ‘मुसलमानों का वोट मिले इसलिए ओसामा की शादी में पहुंचे तेजस्वी यादव’, HAM ने लगाया आरोप

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button