States

लखीमपुर हिंसा: केंद्रीय राज्य मंत्री के बेटे को आज सुबह 11 बजे तक पुलिस के सामने होना है पेश

लखनऊ: लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा ‘टेनी’ के पुत्र आशीष मिश्रा को आज सुबह 11 बजे तक पुलिस के सामने पेश होना है. पुलिस ने शुक्रवार को दूसरी नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए आज सुबह 11 बजे तक पेश होने का समय दिया है. इस बीच लखनऊ में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ने अपने बेटे को ‘निर्दोष’ बताते हुए शुक्रवार को कहा कि उनका बेटा ‘अस्वस्थ’ है और वह शनिवार को यानि आज पुलिस के सामने पेश होगा.

मिश्रा ने लखनऊ एयरपोर्ट पर मीडिया से बातचीत में कहा, “हमें कानून पर भरोसा है. मेरा बेटा निर्दोष है, उसे गुरुवार को नोटिस मिला लेकिन उसने कहा कि उसकी तबीयत ठीक नहीं है. वह शनिवार को पुलिस के सामने पेश होगा और अपने निर्दोष होने के बारे में बयान और सबूत देगा.’ यह पूछे जाने पर कि विपक्ष उनके इस्तीफे की मांग कर रहा है, उन्होंने कहा, “विपक्ष तो कुछ भी मांगता है”. 

इससे पहले आशीष मिश्रा के अब तक गिरफ्तार न होने पर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को यूपी सरकार को आड़े हाथों लिया. कोर्ट ने पूछा कि अगर आरोपी कोई आम व्यक्ति होता तो क्या उसके प्रति भी पुलिस का यही रवैया होता? चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली बेंच ने पुलिस को तेज कार्रवाई का निर्देश देते हुए यह संकेत भी दिए कि जांच किसी और संस्था को सौंपी जा सकती है.

“कानून हाथ में लेने की छूट किसी को नहीं, लेकिन दबाव में कोई कार्रवाई नहीं होगी”
वहीं लखीमपुर की घटना के आरोपी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे की गिरफ्तारी की विपक्ष की मांग पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि कानून हाथ में लेने की छूट किसी को नहीं है, लेकिन किसी के दबाव में कोई कार्रवाई नहीं होगी.

सीएम योगी ने गोरखपुर में एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में कहा, “लखीमपुर खीरी की घटना दु:खद और दुर्भाग्यपूर्ण हैं, सरकार उसकी तह तक जा रही है. लोकतंत्र में हिंसा का कोई स्थान नहीं है, जब कानून सबको सुरक्षा प्रदान करने की गारंटी दे रहा है, तो किसी को भी अपने हाथ में कानून लेने का अधिकार नहीं है, चाहे वह कोई भी हो.”

ये भी पढ़ें-
ABP C-Voter Survey: 5 चुनावी राज्यों में राहुल गांधी के काम से 40 फीसदी लोग बिल्कुल खुश नहीं

Lakhimpur Kheri Violence: किसान मोर्चा ने किया रेल रोको आंदोलन का एलान, कहा- SC की निगरानी में हो जांच

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button