States

मथुरा: ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने PWD गेस्ट हाउस में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की


<p style="text-align: justify;"><strong>मथुरा</strong>: बीजेपी नेता और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा शुक्रवार को दो दिवसीय दौरे पर मथुरा पहुंचे. यहां ऊर्जा मंत्री ने पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की. साथ ही कार्यों में गुणवत्ता के साथ तीव्रता लाने की दिशा निर्देश दिए. मीडिया से रूबरू होते हुए ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि ब्रज का चौमुखी विकास सरकार की प्राथमिकता है.</p>
<p style="text-align: justify;">उन्होंने कहा, सरकार की जो योजनाएं गरीब और लोगों के लिए चल रही है वह सही तरीके से क्रियान्वयन हो. इसका विशेष ध्यान रखा जा रहा है. विकास कार्यों से आम जनता को कोई असुविधा ना हो इसका भी जिलाधिकारी ध्यान रखें. साथ ही उन्होंने विकास कार्यों में तीव्रता लाने के भी अधिकारियों को आदेश दिए गए हैं.</p>
<p style="text-align: justify;">[tw]https://twitter.com/ptshrikant/status/1446450252236541963[/tw]</p>
<p style="text-align: justify;">उन्होंने आगे कहा, हर घर को सीवर से जोड़ना और पीने के लिए स्वच्छ जल उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है. सरकार की प्राथमिकता है कि जो पंचायत घर बनाए हैं, वह सक्रिय रहे. उन पंचायत घरों पर संबंधित अधिकारी बैठे हैं और लोगों की समस्याओं का समाधान करें. साथ ही पंचायती घरों पर जिन लोगों ने कब्जा कर रखा है उन लोगों के खिलाफ पंचायती राज विभाग को भी आदेश दिए गए कि वह कठोर कार्यवाही करें. जनता दर्शन के तय समय पर जो अधिकारी नहीं बैठ रहे हैं उन्हें चिन्हित किया जा रहा है और उन पर कार्रवाई होगी.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>ये भी पढ़ें-</strong><br /><strong><a href="https://www.abplive.com/states/up-uk/bjp-mla-opens-front-against-officials-of-his-own-government-for-illegal-recovery-in-kanpur-ann-1979828">कानपुर: अवैध वसूली को लेकर बीजेपी विधायक ने अपनी ही सरकार के अधिकारियों के खिलाफ खोला मोर्चा, धरने पर बैठे</a></strong></p>
<p style="text-align: justify;"><strong><a href="https://www.abplive.com/states/up-uk/up-basti-rto-fraud-disclose-of-more-than-500-fake-driving-license-ann-1979829">UP: बस्ती RTO में फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस का बड़ा खुलासा, 7 साल से चल रहा था फर्जीवाड़ा</a></strong></p>

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button