States

UP: महोबा में मंच के फर्श पर बैठे सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, जानिए क्या थी वजह

Mahoba News: यूपी में आगामी विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर जीत के समीकरण बनाने के लिए सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल किसान नौजवान पटेल यात्रा लेकर महोबा पहुंचे. इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल को अपने ही कार्यकर्ताओं की अनुशासनहीनता के चलते मंच के फर्श पर बैठने पर मजबूर होना पड़ा.

मंच पर अव्यवस्था देखकर सपा के प्रदेश अध्यक्ष इस कदर नाराज हुए कि वरिष्ठ नेताओं के साथ मंच के फर्श पर बैठ गए. युवाओं द्वारा वरिष्ठ नेताओं को सम्मान न दिए जाने से और आपसी गुटबाजी सपा के कार्यक्रम में देखने को मिली. वहीं इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष ने लखीमपुर खीरी मामले में बीजेपी पर करारा प्रहार करते हुए गृह राज्य मंत्री सहित नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री से इस्तीफे तक की मांग कर डाली.

गुरुवार को सपा के झंडों से सजे मंच और लाल टोपी पहने नेताओं के बीच समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल फर्श पर बैठे नजर आए. उनकी ही पार्टी के तमाम नेता कुर्सियों पर बैठे रहे, वहीं अनुशासनहीनता देख कर प्रदेश अध्यक्ष वरिष्ठ नेताओं के साथ मंच के फर्श पर बैठ गए.

बीजेपी पर साधा निशाना

मंच के ऊपर फैली अव्यवस्थाएं और युवाओं द्वारा बुजुर्ग नेताओं को सम्मान न दिए जाने और माला पहनाने को लेकर मची अफरा-तफरी से प्रदेश अध्यक्ष नाराज दिखे. इस दौरान सपा के प्रदेश अध्यक्ष ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए भारतीय जनता पार्टी पर जमकर प्रहार कियाा. लखीमपुर खीरी को लेकर उन्होंने कहा कि गृह राज्य मंत्री के अलावा उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री को भी नैतिकता के आधार पर अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

खेत खलिहान कुटीर उद्योग बचाओ किसान नौजवान यात्रा प्रदेश के 38 जिलों से होते हुई गुरुवार को महोबा पहुंची. जहां पर सपाइयों ने यात्रा की अगुवाई कर रहे सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल का माला पहनाकर स्वागत किया. कार्यक्रम में सपा कार्यकर्ताओं को चुनाव में जीत को लेकर दिशा निर्देश दिए गए.

प्रधानमंत्री झूठ बोलते हैंः नरेश

वहीं इस दौरान पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि बीजेपी सरकार से किसानों व नौजवानों में आक्रोश दिख रहा है. बीजेपी की दोहरी नीति का असर किसानों पर पड़ा है और प्रधानमंत्री झूठ बात करते है. एक वर्ष से जो किसान धरने पर बैठे है उनकी बात प्रधानमंत्री नही सुन रहे हैं. महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार और ध्वस्त कानून व्यवस्था से पूरे प्रदेश का वातावरण समाजवादी पार्टी के पक्ष में है.

लखीमपुर खीरी मामले को लेकर कहा कि लखीमपुर खीरी ही नहीं बल्कि पूरा प्रदेश इस सरकार में जल रहा है. इस मामले में गृहराज्य मंत्री को ही नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को भी अपना इस्तीफा नैतिकता के आधार पर दे देना चाहिए. मुख्यमंत्री द्वारा लाल टोपी वालों को गुंडा बताने पर नरेश उत्तम ने कहा उल्टा चोर कोतवाल को डांटे जो जैसा होता है. उसको वैसा ही दिखता है.

सीएम योगी को नहीं मर्यादा का ध्यानः नरेश

उनका कहना है कि मुख्यमंत्री की भाषा, मर्यादा और पद की गरिमा कभी उन्होंने ख्याल नहीं किया और मनमाना बोल देते है. समाजवादी पार्टी की लाल टोपी परिवर्तन का प्रतीक है आपातकालीन समय में लाल टोपी ने ही परिवर्तन किया था और एक बार फिर यही लाल टोपी प्रदेश में परिवर्तन करेगी. उन्होंने 391 सीट लाने का दावा करते हुए बड़ें दलों को छोड़ सभी छोटे दलों से गठबंधन करने की बात कही.

उन्होंने एक सवाल के जबाब में कहा कि बीजेपी के पास झूठ के अलावा जनता को गुमराह करने का और कोई रास्ता नही बचा है. किसानो की हत्या और आमजनों की परेशानियों के अलावा बीजेपी के पास कोई काम नहीं है. जनता इन्हें दौड़ा रही है जैसा प्रतापगढ़ में सांसद को दौड़ाया गया.

इसे भी पढ़ेंः
Lakhimpur Kheri Case: गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के घर पर पुलिस ने चिपकाया नोटिस

Lakhimpur Kheri Case: राकेश टिकैत ने दी सरकार को चेतावनी, कहा- मंत्री की गिरफ्तारी नहीं हुई तो होगा बड़ा आंदोलन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button