States

राहुल के लखीमपुर जाने को लेकर सिद्धार्थ नाथ सिंह बोले- ‘पॉलिटिकल पर्यटन’ पर हैं विपक्ष के नेता

Lakhimpur Kheri Violence: उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह (Sidharth Nath Singh) ने बुधवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) जाने के कार्यक्रम को ‘राजनीतिक पर्यटन’ करार देते हुए कहा कि किसी को भी हालात बिगाड़ने नहीं दिए जाएंगे. सिंह ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के लखीमपुर खीरी जाने के आज के कार्यक्रम के बारे में पूछे जाने पर कहा कि विपक्ष नकारात्मक रवैया दिखा रहा है और वह इस संवेदनशील मुद्दे पर राजनीति कर रहा है, समझ नहीं आ रहा है कि भाई-बहन (राहुल और प्रियंका गांधी) इतना क्यों ‘उछल’ रहे हैं.

सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा, ”हालात को संभालने के लिए सरकार ने कानून के तहत कुछ कदम उठाए हैं और विपक्षी नेताओं से प्रार्थना भी की है कि वे लोग अभी लखीमपुर खीरी न जाएं. अगर वे जाना ही चाहते हैं तो कुछ दिन बाद चले जाएं. इन नेताओं के मृतक के परिवारों से मुलाकात पर सरकार को कोई आपत्ति नहीं है लेकिन किसी को भी माहौल बिगाड़ने की इजाजत नहीं दी जाएगी.” 

सिंह ने गांधी पर तंज करते हुए कहा, “आज कांग्रेस के नंबर वन परिवार के एक और युवराज को जोश आया कि बहन (प्रियंका गांधी) तो है ही, इसलिए हम भी राजनीतिक पर्यटन पर निकलेंगे. मगर युवराज यह भूल जाते हैं और इतिहास गवाह है कि इस आजाद देश में कभी नरसंहार हुए हैं तो वे कांग्रेस के शासनकाल में ही हुए हैं.” सिंह ने साल 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों का जिक्र करते हुए कहा, ”पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद सिख समुदाय के खिलाफ नरसंहार किया गया. भाजपा उस समय उन लोगों के साथ खड़ी थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब सिख समुदाय के लिए संशोधित नागरिकता कानून लेकर आए तो कांग्रेस ने उसके खिलाफ अभियान चलाया. इस कानून का ज्यादातर फायदा सिख समुदाय को ही होने वाला है.” 

कांग्रेस के दोनों भाई-बहन इतना क्यों ‘उछल’ रहे हैं- सिद्धार्थ नाथ सिंह

उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ने कहा, “यह समझ में नहीं आ रहा है कि विपक्ष के लोग और विशेष रूप से कांग्रेस के दोनों भाई-बहन इतना क्यों ‘उछल’ रहे हैं. वे कहते हैं कि लोग नाखुश हैं. किसान यूनियन के एक नेता ने स्वयं आकर संयुक्त प्रेस वार्ता की, प्रशासन और किसानों के बीच जो समझौता हुआ है उससे वहां के सभी लोग खुश हैं और वहां पर एक शांति का माहौल बन रहा है लेकिन आप लोगों (विपक्ष) को वीडियो बना-बना कर सार्वजनिक करने और अनाप-शनाप बोलने की आदत हो गई है.” सिंह ने सीतापुर में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को हिरासत में रखे जाने वाले स्थल पर ड्रोन तैनात किए जाने के आरोप के बारे में कहा, “अरे तकनीक है, तकनीक का तो हर जगह इस्तेमाल होता है. आप अगर 20वीं सदी में अभी भी रहना चाहते हैं तो रहिए.”

यह भी पढ़ें-

कांग्रेस के आक्रामक रुख से झुकी योगी सरकार, राहुल-प्रियंका गांधी को लखीमपुर खीरी जाने की अनुमति

Lakhimpur Kheri News LIVE: लखीमपुर खीरी हिंसा का जिम्मेदार कौन? तीन दिन बाद भी बना हुआ है सवाल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button