States

लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर कांग्रेस ने की सरकार को घेरने की तैयारी

Lakhimpur Kheri Violence: लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर उत्तर प्रदेश में जारी सियासत थमने का नाम नहीं ले रही है. कांग्रेस लगातार इस मुद्दे पर सरकार को घेरने में जुटी हुई है. प्रियंका गांधी को सीतापुर में हिरासत में रखा गया था और फिर आज उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

कांग्रेस ने की सरकार को घेरने की तैयारी

वहीं उनसे मुलाकात करने सीतापुर जा रहे छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और यूपी में कांग्रेस के वरिष्ठ पर्यवेक्षक भूपेश बघेल को लखनऊ एयरपोर्ट पर ही प्रशासन ने रोक दिया. जिसके बाद कांग्रेस ने सरकार पर तमाम आरोप जड़ दिए. कांग्रेस कह रही है कि लखीमपुर की घटना को वह चुनाव में सबसे बड़ा मुद्दा बनाएगी तो वहीं सरकार के मंत्री कह रहे हैं कि दरअसल विपक्ष लखीमपुर के बहाने अपनी सियासी रोटियां सेंक रहा है.

लखीमपुर की घटना को लेकर उत्तर प्रदेश में सियासी पारा चढ़ा हुआ है. सियासी दल किसी भी कीमत पर चुनाव से ठीक पहले इस मुद्दे को छोड़ने के मूड में नहीं हैं. यही वजह है कि कांग्रेस इसे लेकर लगातार सरकार पर हमलावर हो रही है. प्रियंका गांधी वाड्रा तो घटना के दिन ही देर रात लखनऊ पहुंची और फिर यहां से लखीमपुर जाने के लिए निकल गई. हालांकि पुलिस ने सीतापुर में उन्हें पहले हिरासत में लिया और मंगलवार को उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

सरकार पर कांग्रेस ने लगाए कई आरोप

इसके बाद तो कांग्रेस ने सरकार पर तमाम आरोप लगाएं. वहीं मंगलवार को प्रियंका गांधी वाड्रा से मिलने के लिए सीतापुर जा रहे छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को प्रशासन ने लखनऊ एयरपोर्ट से बाहर ही नहीं निकलने दिया. दरअसल छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बिना किसी तामझाम के वीआईपी इंतजाम के एक सामान्य यात्री के तौर पर कमर्शियल विमान में सवार होकर लखनऊ पहुंचे थे लेकिन प्रशासन को इसकी जानकारी मिल गई और भूपेश बघेल को लखनऊ एयरपोर्ट पर ही रोक दिया.

उन्हें एयरपोर्ट से बाहर ही नहीं निकलने दिया गया. इससे नाराज होकर भूपेश बघेल वहीं धरने पर बैठ गए. फिर भूपेश बघेल ने जूम के जरिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी पर तमाम आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि अफसरों ने उनसे कहा कि लखनऊ में भी धारा 144 लगी हुई है. तब भूपेश बघेल ने उनसे सवाल किया कि फिर 144 धारा लगने पर प्रधानमंत्री का कार्यक्रम कैसे हो गया. छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अंधेर नगरी चौपट राजा वाली स्थिति है, अगर अब कुछ सामान्य है तो फिर प्रियंका गांधी को जाने से क्यों रोका जा रहा है, यानी कुछ छुपाने की कोशिश की जा रही है.

अजय मिश्र टेनी पर साधा निशाना

वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को एयरपोर्ट पर ही रोके जाने के बाद कांग्रेस के दो पूर्व सांसदों प्रमोद तिवारी और पीएल पुनिया ने कांग्रेस मुख्यालय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भूपेश बघेल को सीतापुर नहीं जाने देने पर सरकार को घेरा. प्रमोद तिवारी ने साफ तौर पर कहा कि सरकार ने एक ऐसा काम किया है जिससे लखनऊ और पूरे प्रदेश की बदनामी हुई है. वहीं केंद्रीय गृहराज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी पर निशाना साधते हुए प्रमोद तिवारी ने कहा कि जो हिस्ट्रीशीटर है जो आदतन अपराधी हैं उसे प्रधानमंत्री ने अपने मंत्रिमंडल में शामिल किया और गिरफ्तार किया इंदिरा गांधी की पोती को राजीव गांधी की बेटी को.

हालांकि इस मामले पर सरकार में कैबिनेट मंत्री और प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह का साफ तौर पर कहना है कि अभी ऐसी स्थिति नहीं है कि सियासी दलों के नेताओं को वहां जाने दिया जाए. 10-15 दिनों बाद जब स्थिति सामान्य होगी तब वहां कोई भी जा सकता है. उन्होंने साफ तौर पर कहा कि लखीमपुर के बहाने सियासी दल उत्तर प्रदेश में अपनी सियासी रोटियां सेक रहे हैं.

चुनाव से ठीक पहले उत्तर प्रदेश में विपक्षी दल सरकार को घेरने के लिए मुद्दे की तलाश में थे और ऐसे में लखीमपुर की घटना होने के बाद कांग्रेस ने जिस तेजी के साथ सरकार को घेरने में अपनी आक्रामकता दिखाई है उससे यह साफ है कि आगामी विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस इसे एक बड़ा मुद्दा बनाएगी.

इसे भी पढ़ेंः
Lakhimpur Kheri News: लखीमपुर खीरी में इंटरनेट सेवा बहाल, जानें- अब कैसा है इलाके का हाल

Lakhimpur Kheri Violence: प्रियंका गांधी ने कहा- 38 घंटे बाद भी नहीं बताया गया मेरे ऊपर क्या है आरोप, वकील से भी नहीं करने दी जा रही बात

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button