States

अजय मिश्रा बोले- भाजपा के कार्यकर्ताओं को पीट-पीटकर मार डाला, घटनास्थल पर मौजूद नहीं था बेटा 

Ajay Mishra Reaction on Lakhimpur Kheri Farmers Death: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) जिले में गृह राज्यमंत्री मंत्री अजय मिश्रा (Ajay Mishra) के काफिले की कथित गाड़ी से हुए हादसे पर बवाल हो गया है. हादसे के बाद किसान गुस्से में हैं. लखीमपुर खीरी के डीएम अरविंद चौरसिया की तरफ से मिली जानकारी के मुताबिक, 5 किसानों (Farmers) की मौत (Death) हो गई है, हालात बेहद तनावपूर्ण हैं. 

मंत्री बोले- मेरा बेटा मौजूद नहीं था
इस पूरे मामले को लेकर गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में ”किसानों के प्रदर्शन में शामिल कुछ तत्वों” ने भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं, एक चालक को पीट-पीट कर मार डाला है. उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी में घटनास्थल के पास मेरा बेटा मौजूद नहीं था, इसके वीडियो साक्ष्य हैं. गृह राज्यमंत्री ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की कार पर पथराव किया गया जिससे वाहन पलट गया, 2 लोगों की इसमें दबकर मौत हो गई, इसके बाद भाजपा कार्यकर्ताओं की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई.

काले झंडे दिखाए और कार पर पथराव किया
केंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने कहा कि घटना के समय ना तो उनका बेटा और ना ही वो मौके पर मौजूद थे. उन्होंने कहा कि ये घटना उस समय हुई जब भाजपा के कुछ कार्यकर्ता उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की अगवानी करने जा रहे थे, जो लखीमपुर खीरी में एक कार्यक्रम में शामिल होने आए थे. उन्होंने कहा कि, ”प्रदर्शन कर रहे किसानों में शामिल कुछ तत्वों ने काले झंडे दिखाए और कार पर पथराव किया, जो पलट गई. 2 किसान कार के नीचे आ गए और उनकी मौत हो गई.”

तस्वीर और वीडियो साक्ष्य हैं
गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा ने कहा कि, ”वहां मौजूद कुछ लोगों ने भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं और कार के चालक की पीट-पीटकर हत्या कर दी.” उन्होंने कहा कि वो उनका पोस्टमॉर्टम कराने जा रहे हैं. मिश्रा ने कहा कि उनका बेटा मौके पर मौजूद नहीं था, जैसा कि कुछ किसान नेताओं ने आरोप लगाया है और इसे साबित करने के लिए उनके पास तस्वीर और वीडियो साक्ष्य हैं. अजय मिश्रा ने कहा कि, ”मेरा बेटा (उप मुख्यमंत्री के) कार्यक्रम स्थल पर मौजूद था और वहां हजारों लोग, प्रशासन और पुलिस के अधिकारी मौजूद थे, मैं भी उपमुख्यमंत्री के साथ था.”

ड्राइवर को पीट-पीटकर मारा गया
वहीं, इस पूरे मामले पर एबीपी गंगा से बातचीत करते हुए गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा ने कहा कि पहले किसानें ने कहा था कि शांतिपूर्ण तरीके से धरना देंगे. लेकिन, किसानों ने हमारे कार्यकर्ताओं के काफिले पर हमला किया और ड्राइवर को पीट-पीटकर मारा गया. उन्होंने कहा कि वो घटनास्थल पर मौजूद नहीं थे. आशीष ने कहा कि वो घटनास्थल से 4 किलोमीटर दूर कार्यक्रम स्थल पर थे. उन्होंने कहा कि उनके जीवन में ऐसी घटना कभी नहीं हुई. वो सत्य के साथ हैं. आशीष मिश्रा ने कहा कि उपद्रवी उनके जिले के नहीं थे.

प्रियंका गांधी का बीजेपी पर निशाना 
इस बीच प्रियंका गांधी ने मामले को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि, ”भाजपा देश के किसानों से कितनी नफ़रत करती है? उन्हें जीने का हक नहीं है? यदि वे आवाज उठाएँगे तो उन्हें गोली मार दोगे, गाड़ी चढ़ाकर रौंद दोगे? बहुत हो चुका. ये किसानों का देश है, भाजपा की क्रूर विचारधारा की जागीर नहीं है. किसान सत्याग्रह मजबूत होगा और किसान की आवाज और बुलंद होगी.”

अखिलेश यादव ने मांगा सीएम का इस्तीफा
मामले को लेकर अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस्तीफे की मांग की है. अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि, ”लखीमपुर खीरी में भाजपाइयों द्वारा गाड़ी से रौंदे जाने की घटना में गंभीर रूप से घायल किसान नेता श्री तेजिंदर सिंह विर्क जी से अभी थोड़ी बात हो पाई. उनकी अति गंभीर स्थिति को देखते हुए सरकार तुरंत उन्हें सर्वोत्तम इलाज उपलब्ध कराए. बस एक माँग मुख्यमंत्री इस्तीफ़ा दें.”

बलिदान को बेकार नहीं होने देंगे
इस पूरे मामले को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि, ”जो इस अमानवीय नरसंहार को देखकर भी चुप है, वो पहले ही मर चुका है. लेकिन हम इस बलिदान को बेकार नहीं होने देंगे- किसान सत्याग्रह ज़िंदाबाद!”

ये भी पढ़ें:

Farmers Death Row: किसानों की मौत पर बवाल, कल प्रियंका गांधी और अखिलेश यादव जाएंगे लखीमपुर खीरी

Lakhimpur Kheri Farmers Death: लखीमपुर की घटना को राहुल गांधी ने बताया नरसंहार, कहा- हम इस बलिदान को बेकार नहीं होने देंगे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button