States

उत्तराखंड में माहौल बिगाड़ने वालों की पहचान की जाएगी, सरकार ने दिया बड़ा आदेश

Uttarakhand Government Directions: उत्तराखंड में बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों का बड़े पैमाने पर सत्यापन किया जाएगा और इसके लिए ड्राइव चलाने की भी पुलिस को निर्देश दिए गए हैं. शासन द्वारा जिलाधिकारी पुलिस कप्तानों को अलग-अलग क्षेत्रों में सामाजिक सौहार्द बिगड़ने की संभावनाओं पर निर्देश दिए गए हैं. जिस पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी में कहा कि, बाहर से जो लोग भी हैं, उत्तराखंड के बारे में पूरी जानकारी जुटाई जाएगी और यह किसी की तरह गलत नहीं है.  जो लोग बाहर से आ रहे हैं, उनके बारे में जानकारी राज्य के लोगों को होनी चाहिए. उत्तराखंड में चुनाव से ठीक पहले सरकार के इस अंदेशे को लेकर पुलिस अफसरों को सख्त हिदायत देते हुए कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं. 

संदिग्ध लोगों की पहचान की जाएगी

उत्तराखंड में सांप्रदायिक माहौल बिगड़ने के इनपुट को लेकर अब राज्य सरकार ने उत्तराखंड में आने जाने वाले लोगों और संदिग्ध अवस्था में रहने वाले लोगों के बारे में जानकारी जुटाने के निर्देश दिए हैं. लिहाजा कुछ शरारती तत्व उत्तराखंड के अलग-अलग हिस्सों में सांप्रदायिक माहौल बिगड़ सकते हैं. ऐसा इनपुट राज्य सरकार के पास था जिसके बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस मसले को गंभीरता से लेते हुए सभी जनपद के पुलिस अफसरों को सख्त हिदायत देते हुए निर्देश दिए कि, ऐसे लोगों पर अभियान चलाकर नजर रखें और जो ऐसे शरारती तत्व हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई करें. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि, कुछ ऐसे क्षेत्र हैं, जहां पर लगातार आबादी बढ़ी है. वहां पर इस तरीके का इनपुट सरकार के पास है कि, उत्तराखंड के कई जगहों पर सांप्रदायिक माहौल बिगड़ सकता है, जिसके बाद देवभूमि में संदिग्ध परिस्थिति में रहने वाले लोगों के बारे में अब सरकार खोजबीन करने जा रही है. इतना ही नहीं इस को लेकर मुख्यमंत्री ने पुलिस को आदेश दिए हैं कि, जल्द से जल्द एक अभियान चलाकर ऐसे लोगों पर कार्रवाई करना सुनिश्चित करें.

अधिकारियों को दिया गया सत्यापन का निर्देश

वहीं, राजधानी के कप्तान जन्मेजय खंडूरी ने बताया कि, सत्यापन के निर्देश दिए गए है और सभी पुलिस के अधिकारियो को निर्देशित किया गया है जिन लोगों के बारे में जानकारी नहीं है, उनके बारे में जानकारी जुटाने के लिए विशेष अभियान चलाया जायेगा और अगर कुछ गलत तथ्य सामने आये तो कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. ऐसी जगह पर जहां पर ऐसे इनपुट मिल रहे हैं, उन चिन्हित स्थानों पर पुलिस अभियान चलाकर ऐसे लोगों पर कार्रवाई करने जा रही है. जैसे शरारती तत्व या जिनके बारे में कोई जानकारी नहीं है, उनका डाटा और जानकारी जुटाने के लिए पुलिस अभियान चलाने जा रही है. 

ये भी पढ़ें.

Controversy on Mihir Bhoj Statue: सम्राट मिहिर भोज की मूर्ति से जुड़ा विवाद लेता जा रहा है सियासी रंग, बीजेपी पर भड़के सपा-बसपा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button