States

कैमूर में वोटिंग के लिए महिला मतदाताओं को मिल रहा स्पेशल ट्रीटमेंट, पुरुषों को आपत्ति भी नहीं

कैमूरः बुधवार को बिहार के 34 जिलों के 38 प्रखंडों में दूसरे चरण का मतदान हो रहा है. बुधवार को ही जितिया का पर्व भी है. ऐसे में बिहार के कैमूर जिले में महिला मतदाताओं को स्पेशल ट्रीटमेंट दिया गया है. दरअसल, दुर्गावती प्रखंड की अवहरिया पंचायत के सारंगपुर गांव में बने बूथ नंबर दो पर काफी संख्या में वोट देने के लिए महिलाएं पहुंचीं थीं. यहां पुरुषों ने खुद ही फैसला लिया कि जब तक महिलाएं मतदान नहीं कर देंगी तब तक कोई पुरुष लाइन में नहीं लगेगा.

पुरुषों का कहना था कि यह व्रत निर्जला है और वह उपवास में हैं. महिलाओं को कोई परेशानी नहीं हो इसलिए उन्हें पहले मौका दिया जाए. क्योंकि पहले मतदान देकर चली जाएंगी तो पूजा से संबंधित और काम को वह कर पाएंगी, इसलिए वोट देकर पहले घर चली जाएं इसलिए यह सामूहिक रूप से फैसला लिया गया है. पुरुषों की ओर से की गई इस पहल पर महिलाएं उनकी सराहना भी कर रहीं हैं.

स्थानीय मुद्दों को देखते हुए दिए जा रहे वोट

महिलाओं ने कहा कि हमलोग 24 घंटे निर्जला व्रत जितिया कर वोट भी देने आए हैं. गांव के सभी पुरुषों ने एकमत होकर सबसे पहले महिलाओं को मतदान करने का अवसर दिया है. हम लोग अपने गांव के स्थानीय मुद्दों को लेकर मतदान करने के लिए आए हैं. वैसे प्रत्याशी को वोट देंगे जो यहां से जीतकर हमारे गांव का विकास करे. गांव में कई लोगों के पास राशन कार्ड नहीं है. गलियां कीचड़ में तब्दील हैं. कई तरह के स्थानीय मुद्दे हैं जिसको देखते हुए वोट देना है.

बता दें कि कैमूर में दूसरे चरण के दौरान एक प्रखंड दुर्गावती में चुनाव हो रहा है. सुबह सात बजे से ही मतदान शुरू हो गया था. सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था है. पुलिस और मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है. दुर्गावती प्रखंड की 13 पंचायतों में 174 बूथ बनाए गए हैं. सुबह सात बजे से मतदान हो रहा है. चुनाव में 1,01,933 मतदाता अपने मत का प्रयोग करेंगे. जिला परिषद सदस्य पद के लिए भाग एक से नौ और भाग दो से कुल 27 प्रत्याशी मैदान में हैं. वहीं मुखिया पद के लिए कुल 113 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं.

यह भी पढ़ें- 

Bihar Corona Update: बिहार के किसी जिले से नहीं मिले कोरोना वायरस के मरीज, 5 लोग स्वस्थ भी हुए

Bihar News: गोपालगंज में हत्या के मामले में भाई, बहन और मां को आजीवन कारावास, सजा सुन फफक कर रो पड़े

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button