States

वरिष्ठ अधिवक्ता संजय सिंह की कार से कुचलकर हत्या, परिवार को सता रही है इस बात की चिंता   

Bareilly Senior Advocate Murder: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बरेली (Bareilly) में वरिष्ठ अधिवक्ता संजय सिंह (Senior Advocate Sanjay Singh) की कार से कुचलकर हत्या (Murder) का मामला सामने आया है. पुलिस (Police) ने इस मामले में मृतक के भाई (Brother) समेत चार लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है. वहीं, इस घटना के बाद मृतक की पत्नी (Wife) और बच्चे काफी डरे सहमे हुए हैं और उन्हें भी अनहोनी की आशंका सता रही है. विशारतगंज थाना क्षेत्र के अतरक्षेणी गांव निवासी वरिष्ठ अधिवक्ता संजय सिंह (Sanjay Singh) की पत्नी रजनी सिंह (Rajni Singh) ने आरोप लगाया है कि उनके पति की हत्या उनके देवर और उसके तीन साथियो ने मिलकर की है. 

कार से कुचला 
मंगलवार की शाम अधिवक्ता संजय सिंह मोटरसाइकिल से अपनी पत्नी और बेटे के साथ अपने घर विशारतगंज जा रहे थे. इस दौरान बेटे को टॉयलेट आई तो उन्होंने बाइक सड़क किनारे रोक दी और बेटा टॉयलेट करने चला गया. इस बीच संजय सिंह और उनकी पत्नी फोन पर किसी से बातचीत करने लगे. इस बीच पीछे से एक कार आई जिसने संजय सिंह को टक्कर मार दी. संजय सिंह बाइक के साथ घायल होकर सड़क पर गिर गए. जिसके बाद हत्यारों ने दोबारा से कार से उन्हें कुचल दिया. जिस वजह से उनकी मौके पर ही मौत हो गई. उनके बेटे ने बताया कि पूरी घटना उसके सामने घटी है. 

आपराधी किस्म का शख्स है दैवर 
मृतक अधिवक्ता संजय सिंह की पत्नी का आरोप है कि उनका देवर मुदित प्रताप सिंह काफी दबंग किस्म का है और आपराधिक वारदातों में लिप्त रहता है. जिस वजह से उनके पति अपने भाई से ज्यादा मतलब नहीं रखते थे. रजनी ने बताया कि एक साल पहले भी एक लाख रुपये की सुपारी देकर उनके पति की हत्या करने की कोशिश की गई थी. रजनी का आरोप है कि उनके देवर ने गलत पते पर असलाह का लाइसेंस बनवाया था. जिसकी शिकायत रजनी के पति ने अधिकारियों से कर दी थी. जिस वजह से मुदित अपने भाई से रंजिश मानने लगा था. मुदित ने कल मौका पाकर संजय सिंह का बरेली से पीछा किया और फिर विशारतगंज के पास कार से कुचलकर उनकी हत्या कर दी.  

हत्या का मुकदमा दर्ज
वहीं, इस मामले में पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राजकुमार अग्रवाल का कहना है कि अधिवक्ता संजय सिंह की पत्नी रजनी सिंह ने अपने देवर मुदित प्रताप सिंह पर अपने पति को कार से कुचलकर हत्या करने का आरोप लगाया है. मुदित के साथ 3 अन्य लोगों के नाम भी उन्होंने बताए हैं जो इस हत्याकांड में शामिल हैं. चारों लोगों के खिलाफ विशारतगंज थाने में आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है. डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम करवाया जाएगा. वहीं, आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमों को लगा दिया गया है.  

खड़े हो रहे हैं कई सवाल 
फिलहाल, घटनास्थल पर पड़ी मोटरसाइकिल और शव के बीच काफी दूरी देखने को मिली है. साथ ही  अधिवक्ता के शव को किसी ने कपड़े से ढका हुआ है और उनके मोबाइल पर किसी की आवाज आ रही है. कोई अज्ञात व्यक्ति उस फोन को उठाकर बात करता है, बड़ा सवाल ये है कि अगर बेटा और पत्नी साथ में थे तो फिर फोन किसी और ने क्यों उठाया. इसका मतलब दाल में कुछ ना कुछ काला जरूर है. अब देखना ये है कि पुलिस की जांच पड़ताल में क्या निकलकर सामने आता है.

ये भी पढ़ें: 

UP Politics: यूपी में जारी है ‘बुलडोजर’ वाली सियासत, मंत्री बोले- समझ सकते हैं अखिलेश यादव का दर्द

UP Election 2022: गीता शाक्‍या ने गोरखनाथ बाबा का लिया आशीर्वाद, कहा- यूपी में फिर बनेगी पूर्ण बहुमत की सरकार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button