States

यूपी की जनता चाहती है बदलाव, इसीलिए बदली CM Yogi की भाषा- Akhilesh Yadav

UP Assembly Election 2022: यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले दल बदलने का सिलसिला शुरू हो गया है. इसी के तहत आज सपा (SP) में कई नेता शामिल हुए. इनमें कुछ पूर्व सांसद और पूर्व विधायक भी थे. सपा प्रमुख और पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की मौजूदगी में इन नेताओं को पार्टी में शामिल कराया गया. इस दौरान अखिलेश यादव बीजेपी पर जमकर बरसे. पत्रकारों को संबोधित करते हुए अखिलेश ने कहा कि विधानसभा चुनाव में बीजेपी का सफाया होना निश्चित है और इसकी तैयारी आज हो रही है.

अखिलेश ने कहा कि बीजेपी की सरकर का जाना तय है. इसीलिए सरकार के मुखिया की भाषा बदल गई है. इनकी भाषा इसीलिए बदल गई है क्योंकि यूपी की जनता बदलाव और खुशहाली चाहती है. जनता सपा सरकार में शुरू किये गए कामों को दोबारा चाहती है. आज के दौर में किसान, व्यापारी, युवा हर वर्ग के लोग दुखी हैं.

“सपा के कामों को अपना बता रही है सरकार”
अखिलेश ने कहा कि अभी तक सरकार नाम और रंग बदल रही थी. सपा के कामों को अपना बता रही थी. अब योगी सरकार दूसरे राज्यों और देशों के फोटो को चुराकर अपना काम बता रही है. युवाओं ने बीजेपी को दिखा दिया की विकास क्या होता है. इस सरकार में एक भी काम ऐसा नहीं हुआ जिसका उद्घाटन किया गया हो. सीएम ऐसा एक भी काम नहीं बता सकते जिसका उन्होंने शिलान्यास किया हो और उसका उद्घाटन भी किया हो. अखिलेश ने कहा कि हाल ही में सीएम योगी कुशीनगर गए थे. सीएम पहले भी वहां गए थे. उस दौरान गरीबों, बच्चों में साबुन और शैंपू बंटवाए गए थे. अखिलेश ने कहा कि ये सब इसीलिए बंटवाए गए क्योंकि गरीबों, किसानों की बदबू ना आए.

कोरोना संक्रमण के दौरान ना तो सरकार ने दवाई का इंतजाम किया और ना ही बेड का. ऑक्सीजन ना मिलने के कारण बड़ी संख्या में लोगों की जानें गई. योगी सरकार ने किसानों के साथ दोगुनी आय का धोखा किया. महंगाई के कारण लोगों को जीना मुहाल हो गया है.

अखिलेश का तंज
अखिलेश ने तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी को अपना चु्नाव चिन्ह बुल्डोजर रखना चाहिए. सरकार के पास सबसे बड़ी उपलब्धि है कि इनके पास बुल्डोजर है.

ये भी पढ़ें:

UP Election: यूपी की जनता चाहती है बदलाव, इसीलिए बदली CM Yogi की भाषा- Akhilesh Yadav

PM Modi Aligarh Visit: विपक्ष पर बरसे पीएम मोदी, कहा- पहले गुंडे-माफियाओं की चलती थी, अब सलाखों के पीछे हैं

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button