States

Bihar Crime: पूर्णिया में भूमि विवाद में 2 लोगों की हत्या, एक बीघा जमीन को लेकर भिड़े दो पक्ष

पूर्णियाः जिले के रुपौली थाना क्षेत्र के बेला प्रसादी गांव में भूमि विवाद (Land Dispute) को लेकर रविवार को दो पक्ष के लोग आपस में भिड़ गए. इस घटना में दोनों पक्ष से एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई. घटना के बाद दोनों परिवारों में कोहराम मच गया है. एक बीघा जमीन को लेकर दस साल से विवाद चल रहा है और यह मामला कोर्ट में है. इसके पहले भी कई बार झड़प हो चुकी है. हालांकि रविवार को इस मामले ने तूल पकड़ लिया जिसकी वजह से यह हादसा हुआ है.

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि गांव का ही इरशाद आलम रविवार को अपनी छह कट्ठा जमीन में घर बनाने के लिए खूंटा गाड़ रहा था. यह देख उसका पड़ोसी कौसर गाली-गलौज करने लगा. इसी क्रम में कौसर ने हथियार निकालकर इरशाद पर गोली चला दी. हालांकि इरशाद को गोली नहीं लगी और वह छुप गया. इसी बीच रास्ते से जा रहे इरशाद के भाई जहांगीर आलम ने गोली की आवाज सुनी और वो वहां पहुंच गया.

बीच-बचाव में कौसर ने दोबारा गोली चलाई जो कि जहांगीर आलम के सीने में जाकर लग गई. आनन-फानन में परिजन रुपौली रेफरल अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां प्राथमिक उपटार के बाद सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया. हालांकि सदर अस्पताल ले जाने के क्रम में ही रास्ते में जहांगीर की मौत हो गई.

जमीन को लेकर बराबर होती थी मारपीट

बताया जा रहा है कि दूसरे पक्ष से भी चार लोग घायल हुए थे जिसमें से एक शख्स मो मुस्लिम की मौत हुई है. वहीं अन्य घायलों का इलाज पूर्णिया सदर अस्पताल में चल रहा है. इरशाद की पत्नी रेहाना खातून ने बताया कि एक बीघा जमीन है जिसे तीन लोगों द्वारा लिया गया है, लेकिन कौसर का कहना है कि यह जमीन उसकी है. इसी को लेकर बराबर मारपीट होती है.

इधर, ग्रामीणों का कहना है कि दो दिन पहले भी पंचायत हुई थी, जिसमें कौसर ग्रामीण पंचों की बात मानने के लिए तैयार नहीं था. मौके से एक कट्टा बरामद किया गया है. वहीं कौसर की गिरफ्तारी के लिए पुलिस जगह-जगह छापेमारी कर रही है. दूसरे पक्ष से घायल होने वालों में सबीना खातून, जैनब खातून और अंगूरी हैं. सबका इलाज चल रहा है.

यह भी पढ़ें- 

Bihar Crime: आरा में पंखे से लटका मिला महिला का शव, पति, देवर सहित तीन लोगों को किया गया गिरफ्तार

औरंगाबाद: कपड़े की दुकान में लगी भीषण आग, 50 लाख से अधिक का नुकसान, दमकल की गाड़ियों ने पाया काबू

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button