States

कानपुर बन रहा स्मार्ट, पहली स्मार्ट पार्किंग की शुरुआत, ऐप से कर सकेंगे बुकिंग

Smart Parking in Kanpur:  कानपुर (Kanpur) को अब स्मार्ट बनाया जा रहा है. इसी के क्रम में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट (Smart City Project) में महानगर की पहली स्मार्ट पार्किंग शुरू की गई है. नगर निगम ने मोतीझील (Motijheel) के आसपास फुटपाथ पर जगह चिह्नित की है, जिसकी पार्किंग के जरिये 400 वाहनों (400 Vehicle) को पार्क कराने का लक्ष्य है. कानपुर वासी स्मार्ट सिटी एप (Smart City Ap) के ज़रिये पार्किंग जगह बुक करके अपनी गाड़ी खड़ी कर सकेंगे. यही नहीं इस एप पर पार्किंग में खड़े किए गए वाहनों की स्थिति भी देखी जा सकेगी. स्मार्ट बिलिंग मशीन POS के ज़रिये भी स्लीप कटाकर वाहनों की पार्किंग की हो सकेगी. इसके अलावा पार्किंग एरिया में सेंसर भी लगाए गए हैं इससे वाहनों की निगरानी की जाएगी और एलईडी स्क्रीन से वाहनों की स्थिति जानी जाएगी.

हाईडेफिनेशन कैमरे

मकसद ये है कि, घर बैठे लोगों को आसानी से पता लग जाये कि पार्किंग एरिया में कितने वाहन खड़े करने की जगह बची है. इसकी मॉनीटरिंग के लिए नगर निगम में कंट्रोल रूम भी बनाया गया है. स्मार्ट पार्किंग में हो रही हर हरकत पर निगाह रखने के लिए हाईडेफिनेशन कैमरों को लगाया गया है.   

300 से 440 वाहन पार्क हो सकेंगे

दरअसल, कुछ दिन पहले सरकारी आदेश पर कानपुर शहर में संचालित की जा रहीं वाहन पार्किंग के ठेके रदद कर दिए गए थे. नगर निगम परिसर और अटल घाट में ही वाहनों की फिलहाल पार्किंग कराई जा रही है. स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अन्तर्गत मोतीझील इलाके के कारगिल पार्क, राजीव वाटिका और लाजपत भवन के सामने स्मार्ट पार्किंग को शुरू किया गया है. मंडलायुक्त डॉ राजशेखर और नगर आयुक्त शिवशरणरप्पा ने स्मार्ट पार्किंग का निरीक्षण करने के बाद इसकी शुरूआत की है. मंडलायुक्त की माने तो इस स्मार्ट पार्किंग में 300-400 दोपहिया, चारपहिया वाहनों को खड़ा करने की व्यवस्था होगी. 

पहले आओ पहले पाओ के आधार पर होगी व्यवस्था 

स्मार्ट सिटी आईटी प्रभारी की माने तो ऐप की मदद से कोई भी वाहन स्वामी पार्किंग आरक्षित कर सकता है. वाहनों की क्षमता के आधार पर पार्किंग की सुविधा पहले आओ पहले पाओ के आधार पर दी जाएगी. मौके पर पहुंचने पर वाहन मालिक उनके मोबाइल पर भेजा गया क्यू आर कोड ऑपरेटर को दिखाएंगे जो उनका वाहन जगह की उपलब्धता के अनुसार स्टैंड पर खड़ा करवा देगा. यदि कोई वाहन स्वामी सीधे स्टैंड पर पहुंचता है तो उसे ऑपरेटर रसीद मुहैया कराएगा रसीद के बदले भी Qr-code मोबाइल पर भेजा जाएगा. इसी क्यूआर कोड को ऑपरेटर पीओएस मशीन से रड कर वाहन के स्टैंड पर खड़े होने संबंधी सारी जानकारी जुटा लेंगे. पार्किंग स्थल पर चार ऑपरेटरों की तैनाती की गई है. मोतीझील में तीन हिस्सों में स्मार्ट पार्किंग का विभाजन भी किया गया है. 

ये भी पढ़ें.

विधानसभा चुनाव से पहले यूपी में आज सियासी बुधवार, जानें- क्या रणनीति बना रहे हैं राजनीतिक दल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button