States

कासगंज का नाम बदलने की तैयारी में है जिला पंचायत, राज्य सरकार को भेजा प्रस्ताव

Kasganj Name Change: उत्तर प्रदेश में जनपदों के नाम बदलने का सिलसिला जारी है. अब कासगंज जिला पंचायत ने जिले के नाम को कल्याण सिंह के नाम पर रखने के लिए प्रस्ताव पास कर उत्तर प्रदेश शासन को भेज दिया है. सोमवार को कासगंज जिला पंचायत बोर्ड की एक बैठक आयोजित की गई जिसमें कासगंज का नाम बदलकर पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व राज्यपाल स्वर्गीय कल्याण सिंह के नाम पर रखने का प्रस्ताव बहुमत से पारित किया गया.

22 अगस्त को यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का निधन हो गया था. जिसके बाद बीती 4 अगस्त को कासगंज जिला पंचायत बोर्ड की बैठक जिला पंचायत अध्यक्ष रत्नेश कश्यप की अध्यक्षता में आयोजित हुई. जिसमें जिला पंचायत वॉर्ड संख्या 4 की सदस्य सितारा कश्यप ने प्रस्ताव रखा कि जिला कासगंज का नाम बदलकर स्वर्गीय कल्याण सिंह के नाम पर रखा जाए. जिस पर सभी सदस्यों ने इस प्रस्ताव को बहुमत से पारित कर दिया. जिला पंचायत अध्यक्ष रत्नेश कश्यप ने जानकारी दी कि कासगंज बोर्ड में पारित इस प्रस्ताव को भेज दिया गया है.

मायावती सरकार में उत्तर प्रदेश के तत्कालीन एटा जनपद के बड़े भूभाग को काटकर कांशीराम नगर के नाम से नया जिला बनाया गया था. मायावती ने अपनी सरकार में 15 अप्रैल 2008 को कांशीराम नगर के गठन की घोषणा की थी. इसके बाद वर्ष 2012 में सूबे की सरकार बदलने के बाद तत्कालीन समाजवादी पार्टी की सरकार में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कासगंज जिले का नाम कांशीराम नगर से बदलकर फिर से कासगंज कर दिया था.

अब एक बार फिर से कासगंज जिले का नाम बदलकर स्वर्गीय कल्याण सिंह के नाम पर रखे जाने की तैयारी हो रही है. जिसके बाद नाम बदलने को लेकर राजनैतिक सरगर्मी भी बढ़ गई है. कासगंज जिले का एक बार फिर से नाम बदलने का प्रस्ताव ऐसे समय पर पारित हुआ है, जब उत्तर प्रदेश में 6 महीने में विधान सभा के चुनाव भी होने हैं.

इस संबंध में कासगंज की जिला पंचायत अध्यक्ष रत्नेश कश्यप ने बताया कि कल्याण सिंह की कासगंज कर्मभूमि रही है. वो यहां से सांसद और विधायक भी रहे हैं. उन्होंने राम मंदिर के लिए अपनी सरकार तक कुर्बान कर दी थी. कासगंज से उनका जुड़ाव होने की वजह से जिला पंचायत कासगंज ने सर्व सम्मति से कासगंज का नाम बदलकर कल्याण सिंह के नाम से करने का प्रस्ताव उत्तर प्रदेश शासन को भेजा है.

इसे भी पढ़ेंः

UP Election 2022: यूपी चुनाव के लिए कांग्रेस ने घोषित किया पहला उम्मीदवार, जानें- किसे मिला टिकट

Framers Protest: किसान आंदोलन को लेकर शिवापाल यादव ने कही बड़ी बात, बोले- बेबुनियाद हैं सरकार के आरोप 

यह भी देखेंः 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button