States

सीएम योगी ने किया बाढ़ ग्रस्‍त क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण, बोले- कोई खुद को असहाय महसूस ना करे

Gorakhpur Flood News: गोरखपुर (Gorakhpur) के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) ने बाढ़ ग्रस्‍त क्षेत्रों (Flood Affected Areas) का हवाई सर्वेक्षण (Aerial Survey) किया. इसके बाद उन्‍होंने बाढ़ पीड़ितों के बीच राहत सामग्री का वितरण भी किया. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ सबसे पहले चौरी चौरा तहसील के झंगहा पहुंचे. यहां पर उन्‍होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि कोई भी बाढ़ से पीड़ित व्‍यक्ति खुद को असहाय महसूस ना करे. इसके लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं.

राहत सामग्री का किया वितरण
मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ 3:30 बजे के करीब चौरी चौरा के झंगहा क्षेत्र के आदित्‍य पब्लिक स्‍कूल पहुंचे. यहां पर उन्‍होंने 10 बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री का वितरण कर राहत कैंप का शुभारंभ किया. उन्‍होंने झंगहा के रामनाथ, रामप्‍यारे, उषा देवी, छोटेलाल, गणेश और जंगल गौरी नंबर एक के भोला, जियसि, कुसुम, कोइला और शकुंतला को राहत किट अपने हाथों से दी. इस दौरान उन्‍होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार की भी यही मंशा है कि आपदा के समय कोई भी व्‍यक्ति खुद को असहाय महसूस ना करे. इसके लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. सभी जनप्रतिनिधि मिलकर जनता को सहयोग देने के लिए हर संभव मदद के लिए लगे हुए हैं. उन्‍होंने कहा कि कल भी उन्‍हें बताया गया है कि लगभग डेढ से दो हजार लोगों को राहत सामग्री का वितरण किया गया है. जिसमें 1 किलो चावल, 10 किलो आटा, 10 किलो आलू, 2 किलो दाल, रिफाइंड तेल, नमक, मसाले, दियासलाई, बरसाती, लाई-भूजा, चना भी उपलब्‍ध कराया जा रहा है. ये भी प्रयास किए गए हैं कि बरसात के समय संक्रमण फैलने से रोकने के लिए छिड़काव और साफ-सफाई की व्‍यवस्‍था सुनिश्चित की जा रही है.

पीड़ित परिवार को राशन और राहत मिले
मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि बीमारी को समय रहते नियंत्रित करने के लिए रविवार से विशेष अभियान का शुभारंभ किया जा रहा है. उन्‍होंने बताया कि हर जिले में एक सीनियर ऑफीसर तैनात किए जा रहे हैं. वो जनप्रतिनिधियों के साथ इसकी समीक्षा करेंगे. सरकार ने पहले से ही प्रशासन को पर्याप्‍त मात्रा में संसाधन और धनराशि उपलब्‍ध कराई है. ये अपेक्षा है कि हर पीड़ित परिवार को राशन और राहत मिले, खाद्यान्‍न उपलब्‍ध हो. जो लोग अपने घरों से बाहर रह रहे हैं, उन्‍हे खाने का पैकेट उपलब्‍ध हों. उन्‍होंने बताया कि किसी भी पीड़ित का मकान क्षतिग्रस्‍त होता है तो उसे 95 हजार रुपए मकान क्षतिग्रस्‍त होने के लिए उपलब्‍ध कराए जाएं. कच्‍चा मकान है, तो उसके लिए अलग राशि है. नदी की धारा में मकान आ गया है, तो मुख्‍यमंत्री आवास योजना के तहत तत्‍काल एक मकान उपलब्‍ध कराने की व्‍यवस्‍था की गई है.

15 जिले बाढ़ की चपेट में हैं
इससे पहले मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपने संबोधन में कहा कि पूर्वी यूपी के साथ नेपाल में हो रही भारी बारिश की वजह से पूर्वी यूपी के 15 जिले बाढ़ की चपेट में हैं. गोरखपुर जनपद के 304 गांव और सवा दो लाख की आबादी बाढ़ की चपेट में आई है. बाढ़ बचाव के लिए समय पूर्व किए गए कार्यों, बंधों की मरम्मत की वजह से नुकसान कम हुआ है. इसके बावजूद लोगों को राशन और राहत सामग्री का तत्‍परता के साथ प्रशासन की ओर से वितरण और मदद पहुंचाई जा रही है.

बाढ़ ग्रस्‍त जिलों का दौरा कर रहे है सीएम योगी 
मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ शुक्रवार से ही बाढ़ ग्रस्‍त जिलों के दौरे पर हैं. सीएम बाढ़ पीड़ितों में राहत सामग्री का वितरण भी कर रहे हैं. गोरखपुर के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने गोरखपुर के चौरी चौरा तहसील के झंगहा के बाद खजनी तहसील के उनवल, सहजनवां और सदर के लालडिग्‍गी में भी राहत सामग्री का वितरण किया. यहां पर उन्‍होंने लोगों को विश्‍वास दिलाया कि बाढ़ से ग्रस्‍त लोगों की हर संभव मदद होगी. 

ये भी पढ़ें:   

Muzaffarnagar Mahapanchayat: संजीव बालियान बोले- सरकार और किसानों के बीच खत्म हो ‘युद्ध’, खुले मन से हो बात 

Sambhal News: सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने आखिर क्यों कहा-मैं नींव का पत्थर हूं, अगर हटा तो इमारत गिर जाएगी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button