States

अयोध्या रेलवे स्टेशन के पहले चरण का 70 फीसदी काम हुआ पूरा, जानें- कैसा होगा बाहरी हिस्सा

Ayodhya New Railway Station: भारत सरकार (Government of India) के रेलवे मंत्रालय की स्टैंडिंग कमेटी की 21 सदस्य टीम ने अयोध्या में निर्माणाधीन रेलवे स्टेशन परिसर का निरीक्षण किया. रेलवे कमेटी समिति के सभापति राधा मोहन सिंह (Radha Mohan Singh) के नेतृत्व में 16 सांसदों सहित 21 सदस्यों की टीम अयोध्या रेलवे स्टेशन पहुंची थी, जिसने निर्माणाधीन रेलवे स्टेशन का बारीकी से निरीक्षण किया. टीम ने आगामी होने वाले कार्यों को लेकर मंथन भी किया. अयोध्या रेलवे स्टेशन (Ayodhya Railway Station) के प्रथम चरण का काम लगभग 70 फीसदी पूरा हो चुका है. 

यात्री सुविधाओं का रखा जाएगा ध्यान 
सांसद लल्लू सिंह के मुताबिक रेलवे स्टेशन पर 10 प्लेटफार्म बनाए जाने हैं, साथ ही उन्होंने 31 दिसंबर तक  अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का प्रथम चरण का काम पूरा हो जाने का दावा भी किया. अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन में यात्री सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाएगा. ये स्टेशन यात्रियों की मूलभूत सुविधाओं से लैस होगा. अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन के बाहरी हिस्से पर मंदिर का स्वरूप प्रदर्शित होगा. 

अयोध्या रेलवे स्टेशन का किया निरीक्षण
अयोध्या के सांसद लल्लू सिंह ने बताया कि भारत सरकार के रेलवे मंत्रालय की स्टैंडिंग कमेटी के सभापति राधा मोहन सिंह के नेतृत्व में 21 सदस्यों की कमेटी ने अयोध्या रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया है. रेलवे स्टेशन और यात्रियों की सुविधाओं साथ ही अयोध्या की आवश्यकताओं को देखते हुए क्या-क्या काम चल रहे हैं और क्या-क्या काम भविष्य में होने हैं इसी संदर्भ में रेलवे कमेटी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का निरीक्षण कर रही है. 

दूसरे चरण का काम बाद में शुरू होगा
सांसद लल्लू सिंह ने दावा किया कि प्रथम चरण में 70 प्रतिशत स्टेशन निर्माण का काम पूरा हो चुका है और 31 दिसंबर तक अयोध्या रेलवे स्टेशन बनकर तैयार हो जाएगा. दूसरे चरण का काम बाद में शुरू होगा. रेलवे स्टेशन पर यात्री सुविधाओं को ध्यान में रखा जाएगा. रेलवे स्टेशन से अलग-अलग दिशाओं में मार्ग भी निकलेंगे. उन्होंने कहा कि अयोध्या रेलवे स्टेशन सुंदर बने और सारी सुविधाओं से लैस हो ये प्राथमिकता रहेगी. भारत सरकार का प्रयास है और समिति भी इसी दृष्टि से अयोध्या रेलवे स्टेशन पर दौरा कर समयबद्ध तरीके से कार्य पूरा कराने का काम करेगी. जो कमियां हैं, उसको दूर करने का काम किया जाएगा. रेलवे स्टेशन का बाहरी हिस्सा मंदिर के स्वरूप का होगा. 

अयोध्या विश्व का सबसे बड़ा नगर बनेगा
अयोध्या पहुंचे भारत सरकार के रेलवे मंत्रालय की स्टैंडिंग कमेटी के सभापति राधा मोहन सिंह ने कहा कि संसदीय स्थाई समिति का एक अध्ययन दल है. आज हमने उसकी बैठक अयोध्या में की है. हमारे अध्ययन दल और पूरी टीम ने अयोध्या रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया है. ये अवगत कराते हुए खुशी हो रही है कि जो प्रथम चरण का काम है वो 70 प्रतिशत पूरा हो चुका है. दूसरे चरण का काम भविष्य में जो हमारे यात्री आएंगे उनकी  सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए किया जाएगा. सरकार ने इस दिशा में बहुत तेजी के साथ कदम उठाया है. मोदी और योगी सरकार की तारीफ करते हुए राधामोहन सिंह ने कहा कि देश में बदलाव हुए हैं, इन दोनों के कुशल मार्ग दर्शन में अयोध्या विश्व का सबसे बड़ा नगर बनेगा.

विरोधियों पर किया कटाक्ष
2022 के चुनाव के मद्देनजर राजनीतिक दलों की तरफ से अयोध्या से चुनाव की शुरुआत किए जाने पर कटाक्ष करते हुए राधा मोहन सिंह ने कहा कि देश और उत्तर प्रदेश के लोग समझदार हो चुके हैं. लोग अब नारों में फंसने वाले नहीं हैं. राधा मोहन सिंह ने कहा कि देश की माटी ने दो ऐसे सपूतों को जन्म दिया है जो पूरी निष्ठा के साथ काम कर रहे हैं. प्रधानमंत्री की तारीफों के पुल बांधते हुए उन्होंने कहा कि पूरे हिंदुस्तान के लिए प्रतिबद्धता के साथ नरेंद्र मोदी काम कर रहे हैं. विपक्षियों पर कटाक्ष करते हुए राधा मोहन सिंह ने कहा कि पूर्व में जो हमारे नेता होते थे वो दिनभर देश के लिए नारे लगाते थे और शाम को अपने वंश की मजबूती के लिए काम करते थे. 

राधा मोहन सिंह ने कहा कि हम लोग सौभाग्यशाली हैं कि देश में अब ऐसे नेता भी हैं जो दिनभर देश के लिए नारे लगाते हैं तो रात में भी पूरी निष्ठा के साथ देश की मजबूती को लेकर बात करते हैं. उत्तर प्रदेश में भी विपक्षियों पर कटाक्ष करते हुए राधा मोहन सिंह ने कहा कि जो उत्तर प्रदेश के नेता होते थे वो दिनभर प्रदेश की मजबूती के नारे लगाते थे और रात में अपने वंश की चिंता करते थे. लेकिन, उत्तर प्रदेश सौभाग्यशाली है कि आज जो नेता है वो दिन में अगर प्रदेश की मजबूती की बात करता है तो रात में भी उत्तर प्रदेश की मजबूती के लिए सपना देखता है. हमारे इन दोनों नेताओं का जीवन राष्ट्र और समाज के लिए समर्पित है. बाकी लोग नारे में राष्ट्र और समाज के लिए हैं और व्यवहार में अपने वंश के लिए समर्पित हैं. ये बहुत स्पष्ट देश की जनता को दिखाई दे रहा है, उत्तर प्रदेश की जनता को दिखाई दे रहा है. 

ये भी पढ़ें: 

Kisan Mahapanchayat: किसान महापंचायत के लिए बागपत में हुई किसानों की पंचायत, कहा- हर फैसले का करेंगे समर्थन

Sambhal News: सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने आखिर क्यों कहा-मैं नींव का पत्थर हूं, अगर हटा तो इमारत गिर जाएगी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button