States

अखिलेश यादव का बीजेपी पर निशाना कहा- देश की सबसे महत्वपूर्ण संस्थाएं बेची जा रही हैं

Akhilesh Yadav Attacks BJP: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव हरदोई में विधान परिषद सदस्य डॉक्टर राजपाल कश्यप के पिता के तेरहवीं कार्यक्रम में शरीक होने पहुंचे थे. इस दौरान उन्होने भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा और कहा कि बीजेपी तुष्टीकरण की राजनीति करती है जबकि सपा संपन्नता की राजनीति करती है.

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी सिर्फ तुष्टिकरण की राजनीति करती है. उनका कहना है कि ‘बीजेपी ने किसानों की आय दोगुनी करने की बात कही थी वह आय कितनी दोगुनी हुई यह बताये, नौजवानों को जो रोजगार देने की बात कही थी कितना रोजगार मिला यह सरकार बताए.’ अखिलेश यादव ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी ने लोगों को मार डाला है. उन्होंने कहा कि बड़ी-बड़ी कंपनी बेंची जा रही हैं और देश की सबसे बड़ी संस्थाएं भी बेंची जा रही है. 

उनका कहना है कि कि ईस्ट इंडिया कम्पनी आई थी उसकी सरकार बन गयी. बीजेपी के लोग सरकार को कंपनी बना रहे हैं और पॉलिटिकल ताकत कंपनी के हाथ देना चाहती है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी तुष्टिकरण की राजनीति करना चाहती है और यह चाहती कि जातियों में झगड़ें हो.

उन्होंने कहाकि समाजवादी पार्टी संपन्नता की राजनीति करती है लोग खुशहाल हों, किसान सम्पन्न हों, तरक्की के रास्ते पर चलें, किसानों की उपज का उचित मूल्य मिले, यह समाजवादि पार्टी का उद्देश्य रहता है. उन्होंने कहा कि जनता इस बार बीजेपी को हटाने का मन बना चुकी है और सपा की सरकार बनाएगी.

उन्होंने कहा कि छोटे दलों से गठबंधन हो रहा है और सपा में जो आएगा उसको लिया जाएगा. उन्होंने कल्याण सिंह के तेरहवीं कार्यक्रम में शामिल होने के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि आज तो मैं यहां कार्यक्रम में शामिल हुआ हूं और हमारे साथ काम करने वाले जितने भी नेता हैं उनके यहां किसी भी तरह के कोई कार्यक्रम में हम लोग हमेशा शामिल होते हैं. समाजवादी पार्टी के नेता भी कार्यक्रम में भी शामिल हुए और उनके दाह संस्कार में भी शामिल हुए थे. इस तरह की राजनीति सिर्फ बीजेपी के लोग करते हैं समाजवादी पार्टी सबको साथ लेकर चलने वाली पार्टी है.

इसे भी पढ़ेंः

UP Election 2022: संजय निषाद ने बीजेपी से मांगी 70 सीटें, योगी सरकार से की 6 बड़ी मांग

UP Election 2022: बीएसपी ने एक और सीट पर घोषित किया उम्मीदवार, जानें- किसे दिया टिकट

यह भी देखेंः 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button