States

Firozabad Viral Fever: फिरोजाबाद में डेंगू और वायरल फीवर से अब तक 41 की मौत

Firozabad Viral Fever: उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले के जिला हॉस्पिटल में बुधवार को एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया. जिसमें फिरोजाबाद में वायरल फीवर से सरकारी रिकॉर्ड में हुई मौतों के बारे में बताया गया. प्रेस वार्ता में डॉक्टर एके सिंह, अपर निदेशक चिकित्सा और स्वास्थ्य सेवाएं आगरा मंडल और प्रधानाचार्य मेडिकल कॉलेज फिरोजाबाद ने स्पष्टीकरण देते हुए मीडिया को बताया कि फिरोजाबाद में अभी तक डेंगू और वायरल बीमारियों से मरने वालों की संख्या 41 है. जिसमें 36 बच्चे शामिल हैं.

गौर करने वाली बात यह है कि सोमवार को जब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ फिरोजाबाद आए थे, तब उन्होंने मृतकों की संख्या 39 बताई थी. योगी आदित्यनाथ ने मीडिया को बताया था कि अब तक 32 बच्चों की मृत्यु हुई और 5 बड़ो की मृत्यु हुई है, लेकिन फिरोज़ाबाद के सरकारी आंकड़े मुख्यमंत्री की बातों को झूठलाते हुए बताते हैं कि मृतकों की संख्या केवल 41 है और उसमें भी 36 बच्चे और 5 व्यस्क हैं.

वहीं मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ संगीता अनेजा बताती हैं कि उन्होंने एलाइसा टेस्ट करवाए थे, जिसमें एलाइसा की रिपोर्ट आ गई है. उनके अनुसार 27 सैंपल लगाए गए थे जिसमें से 22 में डेंगू पॉजिटिव आया है और पांच में डेंगू नेगेटिव आया है. प्राचार्य डॉक्टर संगीता अनेजा ने बताया कि उन्होंने और कई ब्लड और स्वेग सैंपल लखनऊ भेजे हैं. जिसकी अभी रिपोर्ट आना बाकी है, डॉक्टर संगीता अनेजा का कहना है कि फिलहाल यह माना जाएगा कि फिरोजाबाद जनपद में डेंगू का प्रकोप है इसके अलावा कोरोना की तीसरी लहर की संभावना बिल्कुल भी नहीं है.

जबकि फिरोजाबाद के बीजेपी के सदर विधायक मनीष असीजा कहते हैं कि उनके हिसाब से मृतकों की संख्या 52 है. उनका यह भी कहना है कि वह 51 लोगों के मृतकों के घर परिवार से मिलकर आए हैं लेकिन अब मौतों पर सरकारी आंकड़े और विधायक द्वारा दिये गए आंकड़े आपस में तालमेल नहीं खाते हैं.

फिलहाल डॉक्टर ए के सिंह का कहना है कि अभी तक 41 मौत का डाटा दिया गया है. वहीं जो डाटा सीएम योगी ने दिया था उसमें दो कार्डिक अरेस्ट है. आईसीएमआर ने एक टीम भेजी है जो सैंपल ले रही है और उनके टेस्ट करने का मकसद है कि डेंगू के अलावा भी कुछ और हो सकता है. उसका अभी रिजल्ट नहीं आया है. फिलहाल फिरोजाबाद में मौत का कारण डेंगू बताया गया है, वहीं मथुरा में भी जो मौत हुई है उसका भी कारण डेंगू ही नजर आता है.

राजकीय मेडिकल कॉलेज फिरोजाबाद की प्राचार्य डॉक्टर संगीता अनेजा का कहना है कि ‘हमारे यहां पर अलाइसा टेस्ट कराया था, जिसमें 27 केस में से 22 केस डेंगू के पॉजिटिव आए हैं. पांच डेंगू के नेगेटिव आए हैं, हर एक केस में किसी भी मरीज में कोरोना पॉजिटिव नहीं आया है.’

उनका कहना है कि ‘फिरोजाबाद में डेंगू और स्क्रबटायफस को लेकर संशय बना हुआ है. स्क्रबटायफस के जो सिम्टम्स होते हैं वह लगभग डेंगू जैसे होते हैं. इनमें भी फीवर होता है, शरीर पर रेसज पड़ जाते हैं, दर्द होता है, मसल्स पेन होता है, बच्चों का बॉडी का सरफेस एरिया कम होता है, इसलिए उनको डायरिया और मीटिंग मैक्सिमम मौतें जो होती हैं वह भी हाइड्रेशन की वजह से होती हैं.’

इसे भी पढ़ेंः

Crime News: 40 साल के शख्स ने 6 साल की बच्ची के साथ किया रेप का प्रयास, लोगों ने पेड़ से बांधकर पीटा

UP Encounter: पुलिस ने होटल संचालक की हत्या का किया खुलासा, मुठभेड़ के बाद 3 बदमाश गिरफ्तार

यह भी पढ़ेंः

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button