States

समाजवादी पार्टी ने किया परिवर्तन रैली का आयोजन, कहा- मौजूदा व्यवस्था को बदलना लक्ष्य

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश में आगामी 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने सड़क पर पसीना बहाना शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी ने परिवर्तन रैली का आयोजन किया. समाजवादियों ने लखनऊ-प्रयागराज मार्ग के एक निजी होटल से रैली की शुरुआत की. रैली में शामिल होने आए सपा के राष्ट्रीय सचिव अखिलेश कटियार ने कहा कि यह परिवर्तन रैली मौजूदा व्यवस्था को बदलने के लिए आयोजित की गई है.

अखिलेश कटियार ने कहा कि उनकी पार्टी मौजूदा किसान कानून, नौजवानों की समस्या, किसानों के आत्महत्या किये जाने में परिवर्तन चाहती है. इसलिए ऐसी रैली का आयोजन किया गया है. अखिलेश कटियार ने इस मौके पर शिवपाल और उनके नेता अखिलेश के बीच जारी तल्खियों के बारे में कहा कि यह मामला राजनैतिक न होकर दोनों का निजी मामला है, इसलिए इस पर कुछ भी कहना उचित नहीं.

वहीं मुलायम सिंह यादव और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की पिछले दिनों हुई मुलाकात के बाबत पूछे जाने पर कटियार ने कहा कि हमारे नेता जी ने उनको कहा है कि ‘आप तो किसान के बेटे हो, किसानों के साथ भारतीय जनता पार्टी क्या कर रही है. क्या तुम्हारा दिल रोता नहीं है. अगर तुम्हारी आत्मा जरा भी जिंदा है और तुम चाहते हो कि हमारे सरदार पटेल के सपने, जो सपने किसानों का भारत बनाने के थे उससे जरा भी व्यथित हो तो उसको छोड़ो और समाजवादी पार्टी में आओ. आज तुम्हारी आत्मा की आवाज गवारा नहीं कर रही है.’

अखिलेश कटियार का कहना है कि जिस तरह से पूंजीपतियों के हाथों में खेती-किसानी को मोदी जी ने बेच दिया है. हमें लगता है स्वतंत्र देव सिंह का मन भारी है, सरदार पटेल की विरासत आज खतरे में है. इसीलिए वह मुलायम सिंह यादव से मिलने आये थे. अगर वह समाजवादी पार्टी में आना चाहते हैं हम का स्वागत करते हैं.

उन्होंने शिवपाल के दर्द के बारे में बात करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी एक राजनीतिक विचार और राजनैतिक संगठन है. उनके व्यक्तिगत मतभेद हैं, उसको व्यक्तिगत बैठकर मिटाने चाहिए. अगर वह बीजेपी की नीतियों के खिलाफ है, जनता के ऊपर हो रहे अत्याचार के खिलाफ हैं, अगर वह यह मानते हैं कि वह लोहिया के सिपाही हैं तो व्यक्तिगत मामलों को छोड़कर समाज हित में पार्टी के साथ खड़ा होना चाहिए. बाकी माननीय अध्यक्ष जी और शिवपाल जी के व्यक्तिगत मामले हैं लेकिन मेरे नेता की साफ राय है कि जो भी व्यक्ति, जो भी संगठन, विचार आज बीजेपी के खिलाफ है उन सभी के लिए हमारे दरवाजे खुले हैं.

हम जब से पैदा हुए तब से हिंदू हैं. राम मनोहर लोहिया जी ने रामायण मेले लगवाए. राम मनोहर लोहिया जी समाजवादी विचारो के आदर्श हैं. राम मनोहर लोहिया जी जिनके विचारों पर समाजवादी पार्टी चलती है. उनका यह विचार पहले दिन से है. हम आज हिंदू नहीं हुए हैं हम जन्म से हिंदू हैं. जो भारत की संस्कृति है उस को मानने वाले हैं उस पर विश्वास करते हैं.

राजनीति लाभ और हानि में सोचने का नजरिया गुजरात से प्रधानमंत्री लेकर आए. उन सभी दलों के सभी लोगों का, सभी दलों का मैं सम्मान करता हूं जो बीजेपी की वर्तमान सरकार को हटाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. उनका सम्मान हमारे नेता ने हरदम किया है. जिसका विश्वास समाजवाद में है जो भी व्यक्ति यह मानता है कि समाजवादी विचार एकमात्र विचार है. इस नफरत के खिलाफ, संप्रदायिकता के खिलाफ, वातावरण के खिलाफ जिसमें नौजवान परेशान, व्यापारी परेशान है. इस मान्यता में विश्वास रखने वाले हर व्यक्ति को जो व्यक्ति हमारे नेता अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाने में विश्वास रखेगा हम उन सभी का सम्मान करेंगे. 

इसे भी पढ़ेंः

UP Election 2022: संजय निषाद ने बीजेपी से मांगी 70 सीटें, योगी सरकार से की 6 बड़ी मांग

UP Election 2022: बीएसपी ने एक और सीट पर घोषित किया उम्मीदवार, जानें- किसे दिया टिकट

यह भी देखेंः

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button