States

Bihar Politics: जगदानंद सिंह ने तालिबान से की RSS की तुलना, कहा- ये दूसरों की करते हैं पिटाई

पटना: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के करीबी जगदानंद सिंह (Jagdanand Singh) ने बुधवार को आरएसएस (RSS) को लेकर एक बार फिर बड़ा बयान दिया है. राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने पार्टी कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान आरएसएस की तुलना तालिबानियों (Taliban) से करते हुए कहा, ” भारत में आरएसएस तालिबानी हैं. ये लोग लोगों की दाढ़ी काटते हैं. चूड़ी बेचने और पंक्चर बनाने वाले को मारते हैं.”

तालिबान नाम नहीं, सांस्कृति है

जगदानंद सिंह ने कहा, ” हमारे नेता लालू प्रसाद यादव इसलिए जेल गए क्योंकि उन्होंने अरबपतियों के खिलाफ कहा, धार्मिक उन्मादियों के खिलाफ आवाज उठाई, हिन्दू-मुस्लिम की एकता की बात की. आज उन्मादी लोग पूरे देश को तबाह कर रहे हैं. तालिबान नाम नहीं है, एक सांस्कृति है, जो अफगानिस्तान में है. भारत में ये आरएसएस तालिबानी हैं. ये मेहनत कर कमाने खाने वालों को मारते हैं. तो क्या हम उनके खिलाफ खड़े नहीं होंगे. हम आपदा प्रबंधन के लिए हैं, यही जननेता का कर्म है.”

 

परिश्रम करने पर मिलेगा फल

कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा, ” जिसमें जिंदगी नहीं है वो पदार्थ है, जिसमें जिंदागी है, वो जीवंत है. जीवंत चीजों के गुण और दोष की बात की जाती है. हम आंकलन करते हैं कि इसके पास क्या गुण हैं. पदार्थ का गुण बदलता रहता है, लेकिन व्यक्ति का व्यक्तित्व बदलता नहीं, वो एक बार आता है. पर कुछ इंसान इस कुर्सी से उस कुर्सी पर बैठने के लिए हर मिनट बदलते रहते हैं. लेकिन पदार्थ इस्तेमाल के बाद कूड़ेदान में चले जाते हैं. हमारी निगाह सभी पर है अगर आप परिश्रम करोगे तो आपको उसका फल मिलेगा. लेकिन केवल घूमोगे तो हमारे लिए बेशकीमती कभी नहीं बन सकोगे.”

एक सुदृढ़ नीति भी नहीं बना पाई

इधर, इसी कार्यक्रम के दौरान नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने कहा, ” एक रिपोर्ट के अनुसार विगत एक वर्ष में बिहार में 15 लाख नौकरियां और रोजगार समाप्त हुए हैं, बल्कि एनडीए सरकार (NDA Government) का 19 लाख नौकरियां और रोजगार देने का वादा था. युवा विरोधी एनडीए सरकार 16 वर्षों से बेरोजगारी मिटाने और नौकरी देने वाली एक सुदृढ़ नीति भी नहीं बना पाई है. नौकरी देना तो बहुत दूर की बात है अब ये नौकरी छिनने में लगे हैं.

उन्होंने कहा, ” प्रदेश में नियमित नौकरियों में इतना भ्रष्टाचार और घूसखोरी है कि कोई योग्य अभ्यर्थी इसमें अपनी जगह बना ही नहीं पाता है. नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार इतनी नाकारा हो चुकी है कि पिछले 16 वर्षों में बिहार में कोई उद्योग-धंधे नहीं लगे, कोई पूंजी निवेश नहीं हुआ, संगठित-असंगठित क्षेत्र में रोजगार और नौकरियों के अवसर उत्पन्न हुए ही नहीं क्योंकि सरकार की तरफ़ से कोई सकारात्मक पहल नहीं की जा रही है.”

यह भी पढ़ें –

अजब-गजब: खाकी वर्दी पहन अपराधियों ने लूट ली बाइक, वाहन चेकिंग के नाम पर शख्स को दिया चकमा

Bihar Politics: उपेंद्र कुशवाहा के बयान पर मंत्री रामसूरत राय ने किया पलटवार, पूछा- वो बीजेपी के मालिक हैं क्या?



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button