States

सूफी इस्लामिक बोर्ड के राष्ट्रीय प्रवक्ता का दावा, 10 राज्यों में जारी हैं आतंकी गतिविधियां

Kanpur Sufi Islamic Board: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) में सूफी इस्लामिक बोर्ड (Sufi Islamic Board) के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने बड़ा खुलासा किया है. प्रवक्ता ने भारतीय मोबाइल नंबर्स के पाकिस्तानी दहशतगर्दों (Pakistani Terrorists) के वाट्सएप ग्रुप्स (whatsapp) में जुड़े होने का दावा किया है और इस मामले को लेकर कानपुर दक्षिण डीसीपी रवीना त्यागी (Raveena Tyagi) से शिकायत की है. 

कश्मीर को तोड़ने की साजिश 
सूफी इस्लामिक बोर्ड के राष्ट्रीय प्रवक्ता सूफी हसन कौसर मजीदी (Sufi Hasan Kausar Majidi) ने बताया कि पाकिस्तानी आतंकवादी मुल्ला आसिफ असरफ जलाली जो कि बरेलवी पंथ से जुड़ा हुआ है वो देश के 10 राज्यों में आतंकी गतिविधियों (Terrorist Activities) को संचालित कर रहा है. ये आतंकी संगठन (Terrorist Organization) भारत (India) के लिए दुष्प्रचार और कश्मीर को तोड़ने के लिए काम कर रहा है. 

कुछ लोग देश में दहशतगर्दी करना चाहते हैं
सूफी हसन कौसर मजीदी ने ये भी बताया कि देश मे आतंकी गतिविधियों को संचालित करने के लिए लोगों को भी देश में जोड़ रहा है. वहीं मजीदी ने वाट्सएप ग्रुप पर जोड़कर आतंकी बनाने का भी आरोप लगाते हुए भी जांच कराने की मांग की है. इससे पहले मजीदी इस मामले में प्रधानमंत्री, गृह मंत्रालय, मुख्यमंत्री और डीजीपी ऑफिस में भी शिकायत कर चुके हैं. उनका कहना है कि भारत में रहकर कुछ लोग देश में दहशतगर्दी करना चाहते हैं, जिसकी तत्काल जांच होनी चाहिए और जो दोषी हों उन्हें सलाखों के पीछे भेजा जाना चाहिए.

घने मुस्लिम इलाकों में चला रहे हैं एजेंडा
सूफी इस्लामिक बोर्ड के प्रवक्ता हसन कौसर मजीदी का कहना है कि सीमा पार से लगातार देश में राष्ट्र विरोधी ताकतों को संरक्षण देने की कोशिश की जा रही है. यही नहीं इन लोगों को भारत के खिलाफ खड़े होने के लिए तमाम तरह की मदद भी मुहैया कराई जा रही है. पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन घने मुस्लिम बहुल इलाकों में अपने एजेंडे को चला रहे हैं और कुछ स्वार्थी लोग इन देश विरोधी लोगों के साथ खड़े होकर इनकी मदद कर रहे हैं. 

ये भी पढ़ें:  

UP Election: बाहुबली विधायक राजा भैया ने गठबंधन को लेकर दिया बड़ा बयान- बीजेपी या सपा किसके साथ जाएंगे खोला पत्ता

Primary Schools Reopening: कोरोना प्रोटोकॉल के तहत खुलेंगे स्कूल, लापरवाही बरतने पर होगी सख्त कार्रवाई

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button