States

कानपुर के शिवली थाने में 19 वर्षों से कारावास काट रहे हैं भगवान श्री कृष्ण

Krishna Janmashtami News: कानपुर देहात का शिवली थाना वैसे तो यह थाना बड़े अपराध और अपराधियों के नाम से जाना जाता है. यह वही थाना है. शिवली थाने का इतिहास भी काफी पुराना है लेकिन इन दिनों यह था ना एक बार फिर से चर्चा में आ गया है. चर्चा भी ऐसी क्यों साक्षात भगवान श्री कृष्ण से जुड़ी है. आइए हम आपको ले चलते हैं थाने के अंदर और दिखाते हैं वह राज जो पिछले 19 सालों से इस थाने में राज बना हुआ है. दरअसल, आपको बता दें कि द्वापर में कारावास में जन्म में भगवान श्री कृष्ण कलयुग के कारावास को अभी भी काट रहे हैं.

यह बात सुनकर आपको हैरानी तो होगी ही लेकिन हकीकत यही है की भगवान श्री कृष्ण पिछले 19 वर्षों से कानपुर देहात के इस थाने थाने में कैद हैं और भगवान श्री कृष्ण की रिहाई कानूनी दांव पेंच के चक्रव्यू में फस गई है. दरअसल, मामला यह है कि कानपुर देहात के शिवली क्षेत्र में बने इस राधा कृष्ण मंदिर में भगवान कृष्ण और राधा विराजमान थे.

भगवान श्री कृष्ण की यह मूर्ति अष्ट धातु से निर्मित थी और लोगों की यह धारणा थी की यह मूर्ति खुदाई में निकली थी और करीब डेढ़ सौ साल पुरानी है इस मंदिर से लोगों का आस्था और विश्वास का नाता लगातार बना हुआ था. बड़ी सी बड़ी मनोकामना इस मंदिर में भगवान कृष्ण के दरबार में पूरी होती थी और पूरे होते थे लोगों की अधूरी किस्मत की पूरी कहानी.

एक दिन कानपुर देहात के ही एक शख्स ने लालच के चलते भगवान श्री कृष्ण और राधा की इस अष्टधातु निर्मित मूर्ति को चुरा लिया. जिससे 19 साल पहले इस इलाके में सनसनी फैल गई. क्योंकि करोड़ों रुपए की इस मूर्ति की कीमत आंकी गई थी और मूर्ति के यूं चोरी हो जाने से लो और स्थानी पुलिस अतिथि लेकिन ईश्वर की महिमा कहें या उसका चमत्कार एक रोल एक शख्स ने खुद ही थाने में आकर अपना चोरी का इकबाल या जुर्म कुबूल कर लिया और यह बता दिया कि उसने मूर्ति कहां पर छुपाई थी.

पुलिस भी इस बात को लेकर हैरत में थी कि आखिर चोरी करने वाला शख्स खुद थाने में आकर अपना जुर्म कैसे कुबूल कर रहा है जिसके बाद पूछने पर यह पता चला किशोर को सपने में भगवान श्रीकृष्ण दिखाई दिए थे और उन्होंने ही उसे इस जुर्म को कुबूल ने के लिए विवश कर दिया.

हालांकि, पुलिस चोर की कहानी पर विश्वास करने को तैयार नहीं थी लेकिन चोर चोरी की गई मूर्ति बरामती के पास पुलिस की जान में जान आ गई, हालांकि पुलिस ने चोर को जेल भेज कर मुकदमा पंजीकृत कर दिया तभी से यह मूर्ति भगवान कृष्ण की कानपुर देहात के शिवली थाने में कैद है.

न्यायालय में चोर को जमानत तो दे दी क्योंकि न्यायालय के सामने चोर की मानसिक मनोदशा संतुलित नहीं दिख रही थी. जिसके बाद चोर ने जमानत पर सूट तो गया लेकिन न्यायिक प्रक्रिया के चलते मूर्ति अपने उचित स्थान पर स्थापित नहीं हो पाई. हालांकि, चोरी का यह मुकदमा पिछले 19 वर्षों से कानपुर देहात की कोर्ट में विचाराधीन है. जिसके चलते भगवान श्री कृष्ण और राधा की यह अद्भुत और बेशकीमती मूर्ति थाने के माल गोदाम में धूल खा रही है.

साल में एक बार पढ़ने वाले भगवान श्री कृष्ण के जन्म उत्सव पर यानी कि जन्माष्टमी के दिन थाने के सभी पुलिसकर्मी इस मूर्ति को माल गोदाम से निकालकर इसकी पूजा-अर्चना भी करते हैं. लेकिन बड़ा सवाल यह उठता है की चोरी करने वाला शख्स सलाखों के बाहर है और सब को सुख समृद्धि देने वाले भगवान श्री कृष्ण और राधा की अद्भुत मूर्ति अभी भी कारावास भुगत रही है.

आज श्री कृष्ण का जन्मोत्सव है यानी जन्माष्टमी का त्योहार ऐसे में भगवान श्री कृष्ण और राधा की कानपुर देहात से निकलकर आने वाली यह तस्वीर सबको हैरत में डाल रही है. एबीपी गंगा की टीम ने जब इस खबर गहराई से जानकारी करें तो थाने में मौजूद भगवान कृष्ण की अद्भुत मूर्ति के साक्षात दर्शन भी हुए और भगवान कृष्ण की मूर्ति की ऐसी दुर्दशा देखकर अचरज भी हुआ.

UP: हमीरपुर में पुलिस के साथ मुठभेड़ में 25 हजार का इनामी बदमाश घायल, पकड़ा गया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button