Crime

फर्जी वेबसाइट बनाकर लोगों के साथ कर रहे थे ठगी, 2 महिलाओं सहित 12 लोग गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस (Delhi police) की साइपैड यूनिट ने लोगों के साथ ठगी करने वाले एक गैंग का भंडाफोड़ किया है. इस मामले में पुलिस ने 12 लोगों को गिरफ्तार की है. पुलिस के मुताबिक इस गैंग ने साइबर अपराधों (Cyber Crime) की शिकायत दर्ज कराने वाली एक सरकारी वेबसाइट से मिलती-जुलती वेबसाइट बनाई हुई थी. जब भी कोई शिकायतकर्ता अपने साथ हुए साइबर क्राइम की शिकायत इस वेबसाइट पर दर्ज कराता था तब यह लोग उससे प्रोसेसिंग फीस के नाम पर पैसे ऐंठ लेते थे.

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, यह गैंग अब तक 3000 से ज्यादा लोगों के साथ ठगी कर चुका है. इस गैंग ने www.jansurkashakendara.in नाम की एक वेबसाइट बनाई थी. कई पीड़ित का कहना है कि जब वो किसी भी साइबर क्राइम के खिलाफ शिकायत दर्ज करने के लिए इस वेबसाइट पर दिए मोबाइल नंबर पर कॉल करते थे तो फोन उठाने वाला व्यक्ति अपने आप को सरकार कर्मचारी बताता था. पुलिस के मुताबिक फोन पर बात करने वाला व्यक्ति पीड़ितों से उनकी शिकायत को प्रोसेस करने के नाम पर 2850 रुपये वसूल करते थे. जब पीड़ित पैसे ट्रांसफर कर देता था तो यह उसका मोबाइल नंबर ब्लॉक कर देते थे. इस तरीके से गैंग ने अब तक करीब एक करोड़ 74 लाख रुपए की ठगी की है.

कर्नाटक में भी दर्ज हुआ ऐसा ही मामला

वहीं पुलिस के बताया कि यह इस तरह की पहला मामला नहीं है. इससे पहले इसी तरह के 7 और शिकायतें राष्ट्रीय साइबर अपराध रिपोर्टिंग पोर्टल पर दर्ज की गई है. ठगी का एक मामला कर्नाटक में भी दर्ज हुआ है. वहीं जांच के दौरान पता चला कि पिछले एक साल में फेक वेबसाइट बनाकर ठगी करने वाले इस गैंग ने अबतक 1,74,00,000 रुपये बनाए हैं.

टेक्निकल सर्विलांस से हुई गिरफ्तारी

दिल्ली पुलिस के मुताबिक इस मामले में उन्होंने 2 महिलाओं समेत 12 लोगों को गिरफ्तार किया है. वहीं इनके पास से 7 लैपटॉप और 25 मोबाइल भी बरामद किए गए हैं. इस गिरोह का मास्टरमाइंड दिल्ली से सटे नोएडा का रहने वाला है. 

ये भी पढ़ें:

UP Elections: कानपुर में बीजेपी का चुनावी मंथन, धर्मेंद्र प्रधान, सुनील बंसल और दिनेश शर्मा सहित जुटेंगे कई कद्दावर नेता

Uttarakhand Election: आज चुनावी अभियान की शुरुआत करेंगे अमित शाह, जानें मिनट टू मिनट कार्यक्रम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button