Crime

फेसबुक पर लंदन वाली दोस्त बनकर लगाया चूना, दिल्ली पुलिस ने ऐसे किया गिरोह का पर्दाफाश

दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने फेसबुक पर फ्रेंडशिप कर चूना लगाने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश किया है. पुलिस ने इस गिरोह के सरगना परवेज और उसकी महिला साथी काजल कुमारी को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक यह गिरोह फेसबुक पर फर्जी “सोफिया जेनिफर” के नाम से प्रोफाइल बनाकर नौजवानों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते हैं और फिर उन्हें अपने जाल में फंसाकर अलग-अलग तरीकों से अपने अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करा लेते हैं.

दिल्ली पुलिस के मुताबिक दिल्ली के वजीरपुर इलाके में रहने वाले एक शख्स ने शिकायत दी थी कि उसे लंदन में रहने वाली सोफिया जेनिफर नाम की लड़की ने फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी. फेसबुक पर दोस्ती होने के बाद दोनों ने आपस में अपना नंबर एक्सचेंज कर लिया. पहले तो कुछ दिनों तक आपस में बातचीत होती रही. फिर एक दिन पीड़ित को एक महिला का फोन आया, जिसने खुद को मुंबई एयरपोर्ट पर कस्टम अधिकारी बताया. फर्जी कस्टम अधिकारी ने पीड़ित को बताया कि उसका लंदन से एक गिफ्ट आया है जो कि कस्टम पर रुका हुआ है.

कस्टम क्लीयरेंस के लिए उसे अकाउंट में 30 हजार रुपये डालने होंगे. पीड़ित ने जब इस सिलसिले में अपनी लंदन वाली दोस्त से बात की है तो उसने भी गिफ्ट भेजने की बात कही. जिसके बाद पीड़ित ने फर्जी कस्टम अधिकारी के जरिए बताए बैंक अकाउंट में 30 हजार रुपये डाल दिए लेकिन बाद में अधिकारी द्वारा और पैसे डालने की बात कहने पर पीड़ित को कुछ शक हुआ और फिर उसने इस बात की शिकायत पुलिस से की.

शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने उस बैंक अकाउंट को तुरंत फ्रीज करा दिया, जिसमें पीड़ित ने 30 हजार रुपये डाले थे. जांच के दौरान पुलिस को यह भी पता चला कि उस बैंक अकाउंट में करीब 2 लाख 80 हजार रुपये हैं. बैंक अकाउंट फ्रीज होने पर आरोपी काजल कुमारी जब बैंक पहुंची, तभी पुलिस ने उसे धर दबोचा. जिसके बाद पुलिस ने परवेज को भी गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक इन दोनों ने मिलकर फर्जी कागजातों के आधार पर दिल्ली के शालीमार बाग और वजीरपुर इलाके में कई बैंक अकाउंट खुलवाए हुए थे. जिनमें कुछ इसी तरीके से धोखाधड़ी कर यह लोगों से फर्जीवाड़ा कर पैसा डलवा रहे थे और लोगों की गाढ़ी कमाई पर हाथ फेर रहे थे.

यह भी पढ़ें:
बरेली: नाबालिग गर्भवती की हत्या का खुलासा, प्रेमी ने अपनी प्रेम कहानी का अपने ही हाथों कर दिया खात्मा
मुरादाबाद: इंश्योरेंस का 1.5 करोड़ रुपया हड़पने के लिए दोस्त की कर दी हत्या, जांच से बचने के लिए खुद ही जेल चला गया आरोपी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button