Business

इन 5 इक्विटी म्यूचुअल फंड स्कीम्स ने 5 वर्षों में दिया बेस्ट रिटर्न, निवेशक हो गए मालामाल

Mutual Funds:  म्यूचुअल फंड एक लोकप्रिय निवेश ऑप्शन बनता जा रहा है. खासकर म्यूचुअल फंड में सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (एसआईपी) के जरिए लोग निवेश करना अधिक पसंद कर रहे हैं. आज हम आपको 5 इक्विटी म्युचुअल फंड स्कीम्स के बारे में बताएंगे जिन्होंने पांच वर्षों में शानदारा रिटर्न दिया है. लेकिन इससे पहले हम यह चेतावनी देना चाहते हैं कि इक्विटी म्युचुअल फंड में निवेश करते समय यह याद रखें कि पिछला ट्रैक रिकॉर्ड भविष्य के प्रदर्शन का कोई संकेत नहीं है.  अब जानते हैं 5 सालों में शानदार रिटर्न देने वाले इन शेयर्स के बारे में:- 

Tata Digital India Fund

  • इस लिस्ट में पहला नंबर है टाटा डिजिटल इंडिया फंड का.
  • पिछले 5 वर्षों में इस फंड ने 36.86% रिटर्न दिया है.
  • वहीं अगर पिछले तीन सालों की बात करें तो इस फंड का रिटर्न 43.99 फीसदी रहा है.

ICICI Prudential Technology Fund

  • पिछले 5 वर्षों में इस फंड ने 36.02% रिटर्न दिया है.
  • वहीं अगर पिछले तीन सालों की बात करें तो इस फंड का रिटर्न 45.43 फीसदी रहा है.

Aditya Birla Sun Life Digital India

  • इस फंड ने पिछले 5 वर्षों में 35.10% रिटर्न दिया है.
  • अगर पिछले तीन सालों की बात करें तो इस फंड का रिटर्न 43.81 फीसदी रहा है.

SBI Technology Opportunities Fund

  • इस फंड ने पिछले 5 वर्षों में 30.65% रिटर्न दिया है.
  • पिछले तीन वर्षों में इस फंड ने 40.17 फीसदी रिटर्न दिया है.

Franklin India Technology Fund

  • इस फंड ने पिछले 5 वर्षों में 28.32% रिटर्न दिया है.
  • पिछले तीन वर्षों में इस फंड ने 35.82 फीसदी रिटर्न दिया है.

जैसा कि हम उपरोक्त तालिका से देख सकते हैं, लगभग सभी आईटी या तकनीकी पैक से हैं. वास्तव में, आईटी शेयरों में काफी तेजी आई है, जिससे अन्य क्षेत्रों की तुलना में इस क्षेत्र के शेयरों का ठोस प्रदर्शन हुआ है.  हम सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं क्योंकि मौजूदा स्तरों पर बाजार खुद ही अधिक मूल्यवान हैं और इस बात की संभावना है कि आने वाले दिनों में म्यूचुअल फंड सबसे अच्छे रिटर्न के साथ भी खराब प्रदर्शन कर सकते हैं. म्यूचुअल फंड का प्रदर्शन हमेशा शेयर बाजारों के प्रदर्शन पर निर्भर करता है और पिछले 1 साल में तेज रैली के साथ, बड़े निवेशक मूल्यांकन पर थोड़ा चिंतित हो रहे हैं. इसलिए, जैसे-जैसे बाजार में तेजी आती है, बिकवाली का दबाव बढ़ सकता है जो उभर सकता है और इसलिए इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करते समय भी सावधानी बरतने की जरूरत है.

(यहां ABP News द्वारा किसी भी फंड में निवेश की सलाह नहीं दी जा रही है. यहां दी गई जानकारी का सिर्फ़ सूचित करने का उद्देश्य है. म्यूचुअल फंड निवेश बाज़ार जोखिम के अधीन हैं, योजना संबंधी सभी दस्तावेज़ों को सावधानी से पढ़ें. योजनाओं की NAV, ब्याज दरों में उतार-चढ़ाव सहित सिक्योरिटी बाज़ार को प्रभावित करने वाले कारकों व शक्तियों के आधार पर ऊपर-नीचे हो सकती है. किसी म्यूचुअल फंड का पूर्व प्रदर्शन, आवश्यक रूप से योजनाओं के भविष्य के प्रदर्शन का परिचायक नहीं हो सकता है. म्यूचुअल फंड, किन्हीं भी योजनाओं के अंतर्गत किसी लाभांश की गारंटी या आश्वासन नहीं देता है और वह वितरण योग्य अधिशेष की उपलब्धता और पर्याप्तता से विषयित है. निवेशकों से सावधानी के साथ विवरण पत्रिका (प्रॉस्पेक्टस) की समीक्षा करने और विशिष्ट विधिक, कर तथा योजना में निवेश/प्रतिभागिता के वित्तीय निहितार्थ के बारे में विशेषज्ञ पेशेवर सलाह को हासिल करने का अनुरोध है.)

यह भी पढ़ें: 

Multibagger Stock Tips: इस साल 124 फीसदी चढ़ा है ये मल्टीबैगर स्टॉक, ब्रोकरेज फर्म ने दी खरीदने की सलाह

Multibagger Stock Tips: ब्रोकरेज फर्म को उम्मीद- 40 फीसदी ऊपर जा सकता है राकेश झुनझुनवाला पोर्टफोलियो का यह स्टॉक

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button