Business

Cryptocurrency Bill: बिटकॉइन समेत सभी करेंसी को बैन कर सकती है सरकार, इसी सत्र में आएगा बिल

Cryptocurrency Ban in India: अगर आप भी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करते हैं तो आपको बड़ा झटका लग सकता है. केंद्र सरकार क्रिप्टो करेंसी को लेकर काफी सख्त हो रही है. इस शीतकालीन सत्र में सरकार क्रिप्टोकरेंसी एंड रेग्युलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल 2021 (Cryptocurrency and Regulation of Official Digital Currency Bill 2021) पेश कर सकती है. 

निवेश के लिए भी होगा प्रावधान
इस बिल में आरबीआई की ओर से सरकारी डिजिटल करेंसी में निवेश करने और उसको चलाने के लिए भी फ्रेमवर्क में प्रावधान किया जाएगा. इसके साथ ही इसके टेक्निकल इस्तेमाल में सरकार कुछ ढील भी दे सकती है. लोकसभा के बुलेटिन में इसको लेकर पूरी जानकारी दी जाएगी. 

लाए जाएंगे 26 नए बिल
आपको बता दें संसदीय समिति की बैठक में इस विषय पर चर्चा की गई थी, जिसमें बैन करने की जगह नियमन का सुझाव दिया गया था. बता दें इस बार शीतकालीन संसद सत्र में कुल 29 बिल लाए जाने हैं, जिसमें से 26 बिल नए होंगे. 

क्रिप्टो बाजार में बड़ी गिरावट
सरकार के इस फैसले के बाद क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में बड़डी गिरावट देखने को मिली है. बिटकॉइन, शीबा इनु, USDT, डडॉजकॉइन, इथेरियम, वजीरएक्स टोकन, कॉरडानो, रिप्पल, बिटटॉरेंट सभी में भारी गिरावट है. बता आज के कारोबार में करेंसी में 18 से 25 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिल रही है. 

अभी देश में नहीं है कोई बिल
आपको बता दें इस समय पर क्रिप्टोकरेंसी को लेकर देश में कोई बिल नहीं है और न ही इस पर बैन लगा हुआ है. निवेशक अपने हिसाब से इसमें ट्रेडिंग कर रहे हैं. वहीं, पिछले हफ्ते पीएम मोदी ने अधिकारियों के साथ इस बात पर चर्चा की थी. उससे पहले जयंत सिन्हा की अध्यक्षता में पार्लियामेंट की स्टैंडिंग कमिटी ऑन फाइनेंस की बैठक में भी इस मुद्दे पर चर्चा की गई थी. फिलहाल अभी तक किसी भी बैठक में क्रिप्टो को बैन करने पर सहमति नहीं बनी है. 

यह भी पढ़ें: 
खुशखबरी, जल्द सस्ता हो जाएगा Petrol-Diesel! सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला, चेक कर लें आज क्या है 1 लीटर का दाम?

PM Kisan Scheme: 15 दिसंबर को करोड़ों किसानों के खाते में आ जाएंगे 2000 रुपये! फटाफट लिस्ट में चेक कर लें अपना नाम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button