Business

ये हैं बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले टेक्नोलॉजी सेक्टर के टॉप 5 फंड्स

Investment Tips:  भारत का टेक्नोलॉजी सेक्टर तेजी से विकसित हो रहा है, और यह देश के कॉर्पोरेट मानकों को नया आकार दे रहा है. भारत का वैश्विक सोर्सिंग बाजार 55% की हिस्सेदारी के साथ, तेजी से विस्तार कर रहा है. भारत 2016-17 में दुनिया का टॉप सोर्सिंग डेस्टिनेशन बना रहा.

टेक्नोलॉजी फंड में निवेश मुख्य रूप से विविधीकरण (diversification) उद्देश्यों के लिए किया जाना चाहिए. धन निर्माण के लिए केवल इसी धन के भरोसे नहीं रहना चाहिए. टेक्नोलॉजी फंड्स (technology funds) पर विचार कर रहे निवेशकों को पिछले तीन वर्षों के दौरान फंड के प्रदर्शन पर कड़ी नजर रखनी चाहिए. टेक्नोलॉजी इंडस्ट्री और उसके भविष्य के बाजार की गहन समझ की जरूरत है. विचार करने के लिए यहां हम शानदार प्रदर्शन करने वाले आईटी क्षेत्र के कुछ फंड्स के बारे में बता रहे हैं: –

ICICI Prudential Technology Direct Plan

  • यह एक मीडियम साइज फंड है, जिसमें प्रबंधन के तहत संपत्ति (एयूएम) 6,887 करोड़ है.
  • फंड का व्यय अनुपात 79 प्रतिशत है, जो कि अधिकांश अन्य क्षेत्रीय-प्रौद्योगिकी फंडों द्वारा लगाए गए व्यय अनुपात से कम है.
  • आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल टेक्नोलॉजी डायरेक्ट प्लान-ग्रोथ पर पिछले एक साल का रिटर्न 03 फीसदी है.
  • इसने अपनी स्थापना के बाद से प्रति वर्ष औसतन 25 प्रतिशत का रिटर्न दिया है.
  • इंफोसिस लिमिटेड, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज लिमिटेड, एचसीएल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड, टेक महिंद्रा लिमिटेड और पर्सिस्टेंट सिस्टम्स लिमिटेड फंड की टॉप 5 होल्डिंग्स हैं.

Tata Digital India Fund

  • टाटा डिजिटल इंडिया फंड डायरेक्ट-ग्रोथ के पास प्रबंधन के तहत संपत्ति (एयूएम) में 3,842 करोड़ रुपये है.
  • यह अपनी श्रेणी में एक मध्यम आकार का फंड है.
  • फंड का व्यय अनुपात 0.43 प्रतिशत है, जो कि अधिकांश अन्य क्षेत्रीय-प्रौद्योगिकी फंडों द्वारा लगाए गए व्यय अनुपात से कम है.
  • टाटा डिजिटल इंडिया फंड डायरेक्ट-ग्रोथ का 1 साल का रिटर्न 93.80 फीसदी है.
  • इसने अपनी स्थापना के बाद से प्रति वर्ष औसतन 27.89 प्रतिशत का रिटर्न दिया है.
  • फंड की शीर्ष 5 होल्डिंग्स इंफोसिस लिमिटेड, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज लिमिटेड, टेक महिंद्रा लिमिटेड, एचसीएल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड, पर्सिस्टेंट सिस्टम्स लिमिटेड में हैं.

Aditya Birla Digital India Fund

  • आदित्य बिड़ला सन लाइफ डिजिटल इंडिया फंड डायरेक्ट-ग्रोथ के पास 2,658 करोड़ की प्रबंधन के तहत संपत्ति (एयूएम) है, जो इसे अपनी श्रेणी में एक मध्यम आकार का फंड बनाती है.
  • फंड का व्यय अनुपात 1.02 प्रतिशत है, जो कि अधिकांश अन्य क्षेत्रीय-प्रौद्योगिकी फंडों द्वारा लगाए गए व्यय अनुपात के बराबर है.
  • आदित्य बिड़ला सन लाइफ डिजिटल इंडिया फंड डायरेक्ट-ग्रोथ गेन पिछले साल के दौरान 82.34 फीसदी रहा है.
  • इसने अपनी स्थापना के बाद से प्रति वर्ष औसतन 26.78 प्रतिशत का रिटर्न दिया है.
  • इंफोसिस लिमिटेड, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज लिमिटेड, टेक महिंद्रा लिमिटेड, एचसीएल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड और भारती एयरटेल लिमिटेड फंड की शीर्ष पांच होल्डिंग्स हैं.

SBI Technology Opportunities Fund

  • SBI टेक्नोलॉजी अपॉर्चुनिटीज फंड-ग्रोथ के पास 1,891 करोड़ की प्रबंधन (AUM) के तहत संपत्ति है, जो इसे अपनी श्रेणी में एक मध्यम आकार का फंड बनाती है.
  • फंड का व्यय अनुपात 2.27 प्रतिशत है, जो कि अधिकांश अन्य क्षेत्रीय-प्रौद्योगिकी फंडों की तुलना में अधिक है.
  • एसबीआई टेक्नोलॉजी अपॉर्चुनिटीज फंड का 1 साल का ग्रोथ रिटर्न 80.20 फीसदी है.
  • इसकी स्थापना के बाद से इसका औसत वार्षिक रिटर्न 16.61 प्रतिशत रहा है.
  • इंफोसिस लिमिटेड, अल्फाबेट इंक क्लास ए, एचसीएल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड, टेक महिंद्रा लिमिटेड और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज लिमिटेड फंड की शीर्ष पांच होल्डिंग्स हैं.

Franklin India Technology Fund

  • फ्रैंकलिन इंडिया टेक्नोलॉजी फंड डायरेक्ट-ग्रोथ अपनी श्रेणी में एक मध्यम आकार का फंड है, जिसमें प्रबंधन के तहत संपत्ति (एयूएम) 721 करोड़ है.
  • फंड का व्यय अनुपात 1.47 प्रतिशत है, जो कि अधिकांश अन्य क्षेत्रीय-प्रौद्योगिकी फंडों की तुलना में अधिक है.
  • फ्रैंकलिन इंडिया टेक्नोलॉजी फंड डायरेक्ट की 1 साल की विकास दर 55.86 प्रतिशत है.
  • इसने अपनी स्थापना के बाद से प्रति वर्ष औसतन 23.05 प्रतिशत का रिटर्न दिया है.
  • इंफोसिस लिमिटेड, टीसीएस लिमिटेड और एचसीएल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड फंड के शीर्ष पांच पदों में से हैं.

(यहां ABP News द्वारा किसी भी फंड में निवेश की सलाह नहीं दी जा रही है. यहां दी गई जानकारी का सिर्फ़ सूचित करने का उद्देश्य है. म्यूचुअल फंड निवेश बाज़ार जोखिम के अधीन हैं, योजना संबंधी सभी दस्तावेज़ों को सावधानी से पढ़ें. योजनाओं की NAV, ब्याज दरों में उतार-चढ़ाव सहित सिक्योरिटी बाज़ार को प्रभावित करने वाले कारकों व शक्तियों के आधार पर ऊपर-नीचे हो सकती है. किसी म्यूचुअल फंड का पूर्व प्रदर्शन, आवश्यक रूप से योजनाओं के भविष्य के प्रदर्शन का परिचायक नहीं हो सकता है. म्यूचुअल फंड, किन्हीं भी योजनाओं के अंतर्गत किसी लाभांश की गारंटी या आश्वासन नहीं देता है और वह वितरण योग्य अधिशेष की उपलब्धता और पर्याप्तता से विषयित है. निवेशकों से सावधानी के साथ विवरण पत्रिका (प्रॉस्पेक्टस) की समीक्षा करने और विशिष्ट विधिक, कर तथा योजना में निवेश/प्रतिभागिता के वित्तीय निहितार्थ के बारे में विशेषज्ञ पेशेवर सलाह को हासिल करने का अनुरोध है.)

यह भी पढ़ें: 

Multibagger Stock Tips: पिछले तीन महीनों में 46 फीसदी बढ़ा ये स्टॉक, ब्रोकरेज फर्म ने कहा- अभी 15% और बढ़ेगा

Multibagger Stock Tips: राकेश झुनझुनवाला पोर्टफोलियो के इस शेयर ने 2021 में दिया 135% रिटर्न, क्या आपके पास है?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button