Business

पीएम मोदी ने देश के बैंकिंग सेक्टर बेहद मजबूत बताते हुये कहा, 5 लाख करोड़ एनपीए की हुई रिकवरी

PM Modi on NPA: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि देश का बैंकिंग सिस्टम आज बहुत मजबूत स्थिति में है. उन्होंने कहा कि 2014 में सरकार के बनने के बाद सरकार ने बीते 6-7 वर्षों में बैंकिंग सेक्टर में जो Reforms किए हैं, बैंकिंग सेक्टर का हर तरह से सपोर्ट किया, उसी वजह से आज देश का बैंकिंग सेक्टर बहुत मजबूत स्थिति में है. 

वित्त मंत्रालय के डिपार्टमेंट ऑफ फाइनैंशियल सर्विसेज की ओर ये आयोजित कार्यक्रम के दूसरे दिन समापन समारोह को संबोधित करते हुये प्रधानमंत्री ने कहा कि,
आप भी ये महसूस करते हैं कि बैंकों की Financial Health अब काफी सुधरी हुई स्थिति में है. मैं इस Phase को भारत के बैंकिंग सेक्टर का एक बड़ा milestone मानता हूं. 2014 के पहले की जितनी भी परेशानियां थीं, चुनौतियां थीं हमने एक-एक करके उनके समाधान के रास्ते तलाशे हैं. 

पूर्व की सरकार पर निशाना साधते हुये प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले की सरकार में बैंकों को कुछ लोग अपना मानने लगे थे. लेकिन हमारी सरकार में 5 लाख करोड़ रुपये की हुई रिकवरी हुई है और पांच सालों में NPAभी घटा है. उन्होंने कहा कि हमने NPAs की समस्या को एड्रेस किया, बैंकों को recapitalize किया, उनकी ताकत को बढ़ाया, साथ ही IBC (Insolvency & Bankrupty Code) जैसे reforms लेकर आये, अनेक कानूनों में सुधार किए, Debt recovery tribunal को सशक्त किया. 

प्रधानमंत्री ने कहा कि जैसे अभी बैंकिंग सेक्टर का एक रिसर्च में सामने आया है जिसमें पाया गया है कि जिन राज्यों में जनधन खाते ज्यादा खुले हैं, वहां क्राइम रेट उतना ही कम हुआ है. उन्होंने कहा कि आज जब देश financial inclusion पर इतनी मेहनत कर रहा है तब नागरिकों के productive potential को अनलॉक करना बहुत जरूरी है. आज Corporates और start-ups जिस स्केल पर आगे आ रहे हैं, वो अभूतपूर्व है।

कार्यक्रम में मौजूद बैंकरों को प्रधानमंत्री ने नसीहत देते हुये कहा कि भारत की Aspirations को मजबूत करने का, फंड करने का, उनमें इन्वेस्ट करने का इससे बेहतरीन समय क्या हो सकता है ?आप Approverहैं और सामने वाला Applicant, आप दाता हैं और सामने वाला याचक, इस भावना को छोड़कर अब बैंकों को पार्टनरशिप का मॉडल अपनाना  होगा. आज भारत के बैंकों की ताकत इतनी बढ़ चुकी है कि वो देश की इकॉनॉमी को नई ऊर्जा देने में, एक बड़ा Push देने में, भारत को आत्मनिर्भर बनाने में बहुत बड़ी भूमिका निभा सकते हैं. 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button