Business

चिप संकट ने डिलीवरी पर डाला असर, डीलरों को त्योहारी सीजन में भारी नुकसान का डर


<p style="text-align: justify;"><strong>नयी दिल्ली:</strong> वाहन डीलरों के लिए त्योहारी सीजन घाटे का सौदा साबित हो सकता है. ये आशंका जताई है वाहन डीलर संघों के महासंघ (फाडा) अध्यक्ष विन्केश गुलाटी ने. उनका कहना है कि वाहन निर्माता डीलरों को पर्याप्त डिलीवरी सुनिश्चित नहीं कर पा रहे हैं. उसकी वजह है निर्माताओं के लिए पैदा हुआ सेमीकंडक्टर का संकट. &nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>नहीं रहा इस बार त्योहारी सीजन डीलरों के लिए मुनाफे का सौदा</strong></p>
<p style="text-align: justify;">गुलाटी ने पीटीआई-भाषा से कहा, &lsquo;&lsquo;चिप का संकट जारी है. ऐसे में निर्माताओं को उत्पादन के मुद्दों से जूझना पड़ रहा है. वाहन निर्माता अपने डीलर भागीदारों की डिलीवरी कम कर रहे हैं.&rsquo;&rsquo; नवरात्रि की शुरुआत से वाहन डीलरों के लिए 42 दिन व्यस्त सत्र माना जाता है. मगर आपूर्ति की कमी के कारण डीलर अपने ग्राहकों को मनपसंद वाहन सुनिश्चित कराने का भरोसा नहीं दिला पा रहे हैं.</p>
<p style="text-align: justify;">कई मॉडलों की भारी मांग के बीच डीलरों के पास बुकिंग रद्द हो रही है. डीलरों के पास पर्याप्त स्टॉक नहीं होने की वजह से मौके पर खरीद में भी कमी आ रही है. गुलाटी ने कहा, &lsquo;&lsquo;बिक्री के लिहाज से त्योहारी सत्र हमारे लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण होता है. औसतन इन दो माह में हम अपनी सालाना बिक्री का 40 प्रतिशत लक्ष्य हासिल करते हैं.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>सेमीकंडक्टर संकट के चलते वाहन निर्माताओं ने घटाई डिलीवरी</strong></p>
<p style="text-align: justify;">ये खास समय होता है जबकि हम बाकी महीनों में परिचालन के लिए कमाई और बचत कर पाते हैं. इस साल हमें पर्याप्त संख्या में वाहन नहीं मिल रहे. ऐसे में हमें भारी नुकसान होने का अंदेशा है.&rsquo;&rsquo; उन्होंने कहा कि यात्री वाहन खंड में ज्यादातर मॉडलों के लिए &lsquo;इंतजार की अवधि&rsquo; पूर्व के एक से तीन माह की तुलना में काफी अधिक बढ़ चुकी है.</p>
<p style="text-align: justify;">डीलर के पास वाहन नहीं होने से मौके पर बिक्री भी प्रभावित हुई है. गुलाटी ने कहा, &lsquo;&lsquo;हमारे आंकड़ों के अनुसार 50 से 60 प्रतिशत खरीदार पूर्व में बुकिंग करा चुके होते हैं. बाकी 40 प्रतिशत शो रूम पहुंचकर ऑन द स्पॉट वाहन खरीदते हैं. लेकिन अभी हमारे लिए ये चैप्टर बंद है.&rsquo;&rsquo;</p>
<p style="text-align: justify;">पूरी स्थिति को काफी चुनौतीपूर्ण बताते हुए उन्होंने कहा कि अगर इन 42 दिन में उद्योग सामान्य बिक्री हासिल कर पाया, तो उसे काफी भाग्यशाली माना जाएगा. उन्होंने बताया, &lsquo;&lsquo;हमें बड़े नुकसान का अंदेशा है. त्योहारी सीजन में हमारी खुदरा बिक्री 4 से 4.5 लाख इकाइयां रहती हैं. लेकिन इस बार इसके 3 से 3.5 लाख इकाई रहने का ही अनुमान है. अगर हम ये आंकड़ा हासिल भी कर पाए, तो काफी भाग्यशाली होंगे.&rsquo;&rsquo;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong><a title="Mahindra XUV700 का बुकिंग के दूसरे दिन भी रहा जलवा, अब तक बुक हुईं 9500 करोड़ रुपये की एसयूवी" href="https://www.abplive.com/auto/mahindra-xuv700-continues-to-shine-on-the-second-day-of-booking-suvs-worth-rupees-9500-crore-booked-so-far-1979943" target="">Mahindra XUV700 का बुकिंग के दूसरे दिन भी रहा जलवा, अब तक बुक हुईं 9500 करोड़ रुपये की एसयूवी</a></strong></p>
<p style="text-align: justify;"><strong><a title="TVS Jupiter 125 ने भारत में दी दस्तक, जानें कीमत से लेकर परफॉरमेंस तक सबकुछ" href="https://www.abplive.com/auto/tvs-jupiter-125-launched-in-india-check-price-and-engine-performance-1979345" target="">TVS Jupiter 125 ने भारत में दी दस्तक, जानें कीमत से लेकर परफॉरमेंस तक सबकुछ</a></strong></p>

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button