Business

अगले दो साल में 32 स्टार्टअप पा सकते हैं Unicorn का दर्जा, क्रिप्टोकरेंसी से केवल एक कंपनी

Hurun India Future Unicorn List 2021: हुरुन इंडिया फ़्यूचर यूनिकॉर्न लिस्ट 2021 (Hurun India Future Unicorn List 2021) के मुताबिक देश में क्रिप्टोकरेंसी के क्षेत्र में CoinSwitch Kuber एक मात्र ऐसा स्टार्टअप है जिसके अगले दो सालों Unicorn में तब्दील होने की संभावना है. फाइनेंस के क्षेत्र में Unicorn शब्द का इस्तेमाल उन निजी स्टार्टअप के लिए किया जाता है जिनकी वैल्यूएशन लगभग 73 अरब 08 करोड़ 15 लाख रुपये (एक बिलियन डॉलर) से ज्यादा होती है. इस लिस्ट में कुल 32 कंपनियों के अगले दो साल में Unicorn होने की संभावना जताई गई है. जिनमें से सबसे ज्यादा 18 कंपनी FinTech के क्षेत्र से हैं. जबकि 17 स्टार्टअप ई-कॉमर्स के क्षेत्र से हैं. 

हुरुन इंडिया फ़्यूचर यूनिकॉर्न लिस्ट 2021 में देश के उन स्टार्टअप को शामिल किया गया है जिनकी शुरुआत साल 2000 के बाद से हुई है और जिनकी नेटवर्थ लगभग 14 अरब 61 करोड़ 76 लाख रुपये  (200 मिलियन डॉलर) से अधिक हैं. साथ ही ये कंपनियां अभी पब्लिक एक्स्चेंज में लिस्टेड भी नहीं है. लिस्ट में उन कंपनियों को शामिल किया गया है जिनके अगले दो साल (Gazelles) या अगले चार साल (Cheetahs) में Unicorn बनने की संभावना है. 

ई-कॉमर्स स्टार्टअप Zilingo को मिली है पहली रैंक 

हुरुन इंडिया फ़्यूचर यूनिकॉर्न लिस्ट 2021 में ई-कॉमर्स स्टार्टअप Zilingo को पहली रैंक दी गई है जबकि मोबाइल प्रीमियर लीग (MPL) इस लिस्ट में  दूसरे स्थान पर है. CoinSwitch Kuber को इसमें Gazelles की लिस्ट में 29वीं रैंक दी गई है.

इस लिस्ट में मोबिक्विक (MobiKwik) एकमात्र फिनटेक (FinTech) कंपनी है. जबकि फिनटेक के क्षेत्र की अन्य कम्पनियों में से नवी 11वीं रैंक, खाताबुक 18वीं रैंक, रूपीक 21वीं रैंक और Acko General Insurance 25वीं रैंक पर मौजूद है.  

बता दें हुरुन रिपोर्ट के मुताबिक Gazelles में वो स्टार्ट अप शामिल किए जाते हैं जिनकी शुरुआत साल 2000 के बाद से हुई है और जिनके अंदर अगले दो साल में Unicorn में तब्दील होने की श्रमता होती है. 

यह भी पढ़ें 

ATM Card Reissue Process: एटीएम कार्ड खो गया है तो दोबारा बनवाने का क्या है प्रोसेस, जानें SBI, HDFC और ICICI बैंक के नियम

Covid Vaccine: वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके लोगों को लॉन्ग कोविड की संभावना 50 फीसदी कम- लांसेट की स्टडी का दावा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button